UP: आकाशीय बिजली गिरने से 24 घंटे में 7 की हुई दर्दनाक मौत, 5 झुलसे

You Are Here
UP: आकाशीय बिजली गिरने से 24 घंटे में 7 की हुई दर्दनाक मौत, 5 झुलसेUP: आकाशीय बिजली गिरने से 24 घंटे में 7 की हुई दर्दनाक मौत, 5 झुलसेUP: आकाशीय बिजली गिरने से 24 घंटे में 7 की हुई दर्दनाक मौत, 5 झुलसे

मिर्जापुरः मिर्जापुर जिले में बीती दोपहर तेज बारिश के साथ आसमानी बिजली आफत बन कर बरपी। जिससे 24 घंटे के अंदर 7 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि झुलसे 5 लोगों को नजदीकी अस्पतालों में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। थानों की पुलिस ने 5 स्थानों का मौका मुआयना किया।

आफत बन कर बरसी आसमानी बिजली
दरअसल बीती दोपहर चुनार तहसील क्षेत्र में मूसलाधार बरसात शुरू हो गई। इस समय अधिकांश इलाकों में धान की रोपाई चल रही थी। चुनार कोतवाली के कैलहट गांव निवासी 90 वर्षीय महानंद और उनका 19 वर्षीय पोता प्रदीप उर्फ छोटू पेट्रोल पंप के पास पशुओं को चरा रहे थे। इसी समय तेज गरज के साथ आकाशीय बिजली गिरने से प्रदीप की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दादा महानंद झुलस गए। परिजनों और ग्रामीणों को घटना की जानकारी हुई तो मौके पर पहुंचे और महानंद को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराए

करंट से हुई 7 की मौत, 5 गंभीर झुलसे
सूचना पर पहुंची पुलिस ने किशोर के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं अदलहाट थाना क्षेत्र के बरेंव गांव की 60 वर्षीय रुक्मणी देवी पत्नी मुन्ना विश्वकर्मा और उनकी पड़ोसन 55 वर्षीय रन्नो देवी पत्नी लक्ष्मण अपने ही धान के खेत में रोपाई कर रही थी। बरसात शुरू होने पर जब तक दोनों भागती तब तक आकाशीय बिजली गिर गई। जिससे रन्नो की मौके पर ही मौत हो गई। झुलसी रुक्मणी देवी को उपचार के लिए नरायनपुर निजी अस्पताल ले जाया गया।

उधर जिगना थाना के नगवासी गांव निवासी 48 वर्षीय राजेश पाण्डेय पुत्र सियाराम पाण्डेय प्राईवेट शिक्षक थे। वह दोपहर में एक बजे के करीब खाना खाने के बाद घर के बाहर लगे मड़हे में आराम कर रहे थे। परिवार के बाकी सदस्य घर के अंदर थे। इसी बीच तेज बरसात शुरू हो गई। जब तक वह वहां से बचकर घर के अंदर जाते आकाशीय बिजली मड़हे पर गिर गई। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

इधर अहरौरा थाना क्षेत्र के दीक्षितपुर गांव निवासी 38 वर्षीय केशलाल पुत्र चुलबुल का चकजाता पहाड़ के समीप खेत है। वह किराए के ट्रैक्टर से दोपहर में खेत की जोताई करा रहे थे। मेड़ पर खड़े होकर निगरानी कर रहे थे। इसी बीच तेज गरज के साथ आकाशीय बिजली गिर गई। इससे किसान की मौके पर मौत हो गई।

घर गिरने से दंपत्ति की मौत
लगातार बरसात की वजह से कछवां थाना के महामलपुर गांव में कच्चा मकान गिरने से मलबे के नीचे दबकर दंपती की मौत हो गई। बरामदे में सो रही बेटी और 2 बेटे बाल-बाल बच गए। दरअसल गांव के 35 वर्षीय सुरेश उर्फ दिन्नी गोंड़ के घर के पास खण्डहर है। सुरेश अपने कमरे वाले मकान में अपनी 30 वर्षीय पत्नी निशा के साथ सोए थे। इसी बीच पास के खंडहर की दीवार सुरेश के मकान पर गिर गई। जिससे मलबे के नीचे दबकर दोनों की मौत हो गई।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You