दोबारा सरकार में आये तो दूर करेंगे PCS अधिकारियों के दुख दर्द: अखिलेश

You Are Here
दोबारा सरकार में आये तो दूर करेंगे PCS अधिकारियों के दुख दर्द: अखिलेशदोबारा सरकार में आये तो दूर करेंगे PCS अधिकारियों के दुख दर्द: अखिलेशदोबारा सरकार में आये तो दूर करेंगे PCS अधिकारियों के दुख दर्द: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुयमंत्री अखिलेश यादव ने प्रांतीय सिविल सेवा (पीसीएस) अधिकारियों को शासन सत्ता की रीढ बताते हुए आज आश्वस्त किया कि समाजवादी पार्टी की दोबारा सरकार बनने पर उनकी समस्याओं का निराकरण किया जायेगा। अखिलेश यादव ने आज यहां पीसीएस संघ के अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा कि शासन की नीतियों का लाभ जनता तक पहुंचाने में इस संवर्ग के अधिकारियों का बहुत योगदान होता है। इन्हें सरकार की रीढ़ कहा जाता है। इनकी वजह से सरकार की छवि बनती भी है और बिगड़ती भी है। 

उनका कहना था कि अच्छा काम करने वाले अधिकारियों को वह हमेशा प्रोत्साहित करते हैं। नौ वर्षो बाद पीसीएस संघ के हो रहे अधिवेशन में उन्होंने कहा कि यह हर साल होना चाहिए, क्योंकि इससे एक दूसरे से मुलाकात होती है और एक दूसरे के नजदीक आते हैं। उन्होंने कहा कि वह और उनकी पार्टी इस संवर्ग पर बहुत भरोसा करती है। एक बार तो उनकी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने केन्द्र से यहां तक कह दिया था, ‘आप आईएएस हटा लीजिए हम पीसीएस से सरकार चला लेंगे।’

अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार की योजनाओं को पीसीएस अधिकारी आम जनता तक पहुंचाते हैं। देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस वे आगरा-लखनऊ को कम समय में बनाने का श्रेय इन्हीं अधिकारियों को जाता है, क्योंकि किसानों से बिना किसी विवाद के इसी संवर्ग के लोगों ने जमीन दिलवायी। उन्होंने कहा कि मेट्रो, लैपटाप और समाजवादी पेंशन जैसी सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू करवाने में पीसीएस अधिकारियों का बहुत योगदान रहा है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने इस संवर्ग के लिए हमेशा नरम रुख रखा। इसीलिए दो सौ से ज्यादा अधिकारी आईएएस कैडर में चले गये। पीसीएस संघ ने इसके लिए सपा के वरिष्ठ नेता प्रो0 रामगोपाल यादव का भी सहयोग लिया। उन्होंने कहा कि पीसीएस अधिकारियों की वजह से ही बुन्देलखण्ड के पैकेज वितरण में मदद मिली, इससे गरीबों का लाभ हुआ।  इससे पहले पीसीएस संघ के महासचिव पवन गंगवार ने कहा कि केरल और कुछ अन्य प्रदेशों में पीसीएस संवर्ग के अधिकारी आठ वर्षो में आईएएस हो जा रहे हैं जबकि उत्तर प्रदेश में 22 साल लग जा रहे हैं। उन्होंने पीसीएस अधिकारियों की कुछ अन्य समस्याओं को भी मुयमंत्री के सामने उठायी। 

UP Latest News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You