सहारनपुर हिंसा के बाद योगी सरकार से उठा लोगों का भरोसा: अखिलेश

  • सहारनपुर हिंसा के बाद योगी सरकार से उठा लोगों का भरोसा: अखिलेश
You Are Here
सहारनपुर हिंसा के बाद योगी सरकार से उठा लोगों का भरोसा: अखिलेशसहारनपुर हिंसा के बाद योगी सरकार से उठा लोगों का भरोसा: अखिलेशसहारनपुर हिंसा के बाद योगी सरकार से उठा लोगों का भरोसा: अखिलेश

इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि सहारनपुर में हुई हिंसा के बाद लोगों का विश्वास उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ योगी सरकार से उठ चुका है।

यादव ने अपने पैतृक गांव सैफई में पत्रकारों से मीडिया की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब उनकी सरकार थी तो मीडिया छोटे से छोटे अपराध के साथ उनकी फोटो लगाकर पेश करता था। अब मीडिया सहारनपुर में हुई इस घटना को अच्छी तरह से प्रसारित करे ताकि लोगों को असिलयत का पता चल सके। मीडिया में बहुत ताकत है, उसे वर्तमान में घट रही घटनाओं को भी मुख्यमंत्री की फोटो लगाकर दिखाई जानी चाहिए।

उन्होंने मीडिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है कि नवगठित भाजपा सरकार में कोई अपराध नहीं हो रहा लेकिन उसे दिखाया नहीं जा रहा है। हां, मेरे कार्यकाल के बाद यह बदलाव जरूर हुआ है कि मीडिया में कुछ और ही दिखाया जाने लगा है। अब न्यूज चैनलों में ब्रेकिंग न्यूज भी खत्म कर दी गई।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि अभी सरकार नई बनी है और नई सरकार को काम करने का मौका मिलना चाहिए। बहुमत बड़ा है, उनके विधायक ज्यादा जीते हैं उनकी जिम्मेदारी ज्यादा बनती है। जिम्मेदारी इसलिए ज्यादा बनती है कि चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा कानून व्यवस्था का था और भाजपा की तरफ से जितनी चिंता कानून व्यवस्था पर थी उतनी ही चिंता सीमा के बारे में होती थी सीमा कितनी सुरक्षित है, सबको पता है।  उनके पास इस बात की पुख्ता खबरें है कि कई जिलों के जिलाधिकारी की कोई नहीं सुन रहा। पुलिस कप्तान के घर में लोग चढ़े जा रहे हैं। नेम प्लेट तथा उनकी गाड़ी तोड़ दी और ट्रांसफर कर दिया। गाड़ी तो और भी बड़े अफसरों की तोड़ी गई है लेकिन सब कुछ दबा दिया गया है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि सहारनपुर के लोगों का एक दूसरे के प्रति भरोसे का नुकसान हुआ है। जब भरोसे का नुकसान होता है तो बड़ा नुकसान होता है। किसी के सम्मान में कोई भी यात्रा निकाले किसी को कोई मतलब नहीं, लेकिन किसी की भावनाओं को आहत करके अगर यात्रा निकाली जाती है तो वह किसी अपमान से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि उनकी जानकारी में सहारनपुर की घटना में कम से कम 25 घरों को जला दिए जाने का मामला सामने आया है। उन्होंने मीडिया से गुजारिश की है कि वहां जाकर हकीकत को समझने की आवश्यकता है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!