विदेशों से कालाधन लाने में पूरी तरफ विफल रही मोदी सरकार: मायावती

  • विदेशों से कालाधन लाने में पूरी तरफ विफल रही मोदी सरकार: मायावती
You Are Here
विदेशों से कालाधन लाने में पूरी तरफ विफल रही मोदी सरकार: मायावतीविदेशों से कालाधन लाने में पूरी तरफ विफल रही मोदी सरकार: मायावतीविदेशों से कालाधन लाने में पूरी तरफ विफल रही मोदी सरकार: मायावती

उन्नाव: चुनावी रैली को संबोधित करने पहुंची बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा, कांग्रेस और बीजेपी पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कालेधन के नाम पर बीजेपी ने झूठा वादा किया। इतने दिन बीत जाने के बाद भी केंद्र सरकार विदेशों से कालाधन लाने में असफल रही है। वहीं सपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि सीएम अखिलेश के दामन पर भ्रष्टाचार के दाग लगे हैं। 

नोटबंदी की मार से परेशान हैं गरीब, मजदूर
नोटबंदी को लेकर भी मायावती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। मायावती ने कहा कि नोटबंदी के इतने दिन बीत जाने के बाद भी गरीब, मजदूर, किसान अभी तक नहीं उबर पाए हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार के इस फैसले से यूपी की 22 करोड़ जनता परेशान है। 

सपा सरकार ने बदला बसपा सरकार की योजनाओं का नाम 
मायावती ने कहा कि ‘महामाया गरीब आर्थिक मदद योजना’ व सावित्रीबाई फूले बालिका शिक्षा मदद योजना जिसके तहत छात्राओं को 15 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि व स्कूल जाने के लिये साइकिल की व्यवस्था की गयी थी। 11वीं पास करने पर उन्हें दस हजार रुपये अतिरिक्त देने की व्यवस्था को सन् 2009-10 में ही लागू करके लाखों बालिकाओं को हर वर्ष लाभान्वित करना शुरू कर दिया गया था। साथ ही एक लाख 10 हजार गाँवों में सफाईकर्मी के सरकारी पद स्वीकृत करके उन पर बहाली की गई। उन्होंने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में लगी भर्ती पर से रोक को हटाकर सर्वसमाज के युवाओं व बेरोजगारों को स्थायी नौकरी दी गयी। असंगठित क्षेत्र में भी रोजगार के लाखों अवसर पैदा करके पलायन को पूरी तरह रोका गया था। छात्रवृत्तियों को बढ़ाकर उन्हें लाभार्थियों के खातें में सीधे देने की व्यवस्था लागू करके भ्रष्टाचार को रोकने का काम किया गया।

सपा-भाजपा के खोखली बातों पर विश्वास नहीं करेगी जनता 
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता अब भाजपा की चुनावी वादाखिलाफी के साथ-साथ सपा व कांग्रेस पार्टी की हवा-हवाई व खोखली बातों में कतई भी विश्वास करने वाली नहीं है। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की जनता अराजकता का जंगलराज को समाप्त करके सूबे में‘कानून द्वारा कानून का राज’देखना चाहती है। राज्य विधानसभा आमचुनाव के प्रथम चरण के मतदान का दिन‘साझा कार्यक्रम’घोषित करना एक नाटकबाजी के सिवाय कुछ नही है। 

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!