जातीय राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा, इसके खात्मे के लिए युवा आएं आगे: शाह

  • जातीय राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा, इसके खात्मे के लिए युवा आएं आगे: शाह
You Are Here
जातीय राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा, इसके खात्मे के लिए युवा आएं आगे: शाहजातीय राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा, इसके खात्मे के लिए युवा आएं आगे: शाहजातीय राजनीति लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा, इसके खात्मे के लिए युवा आएं आगे: शाह

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने जातीय राजनीति को लोकतंत्र के लिए एक बड़ा खतरा करार देते हुए इसके खात्मे के लिए युवाओं से आगे आने का आह्वान किया। शाह आज यहां एक निजी विश्वविद्यालय में आयोजित ‘यूपी के मन की बात’ कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं से सीधा संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र की जडें मजबूत हैं लेकिन यह जातिवाद से ग्रसित है। जातिवाद से लोकतंत्र को उबारना ही होगा। इसके लिए युवाओं को आगे आना चाहिए। शाह ने कहा कि ज्यादातर पार्टियां में परिवारवाद का बोलबाला है। हमें परिवारवाद और जातिवाद से ऊपर उठना होगा।  

काले धन पर अमित शाह ने सख्त लहजे में चेताया, ‘‘मोदी सरकार काले धन के मामले में किसी को नहीं बख्शेगी। मैं मानता हूं कि करोड़ों रूपये के काले धन पर सिर्फ भारत के युवाआें का अधिकार है, अन्य किसी का नहीं।’’ उन्होंने कहा कि जब केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी तो विरोधी दल हाय तौबा मचा रहे थे कि काले धन का क्या करोगे? आपने (मोदी) चुनावी वादा किया था, काला धन खत्म करोगे लेकिन अब तक क्या किया? ‘‘भाजपा सरकार ने पहला कानून क्या बनाया ? काले धन के खिलाफ विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया। पांच सौ और हजार रूपये के नोट बंद किये। अब हाय तौबा मची है कि फैसले को वापस ले लो, क्यूं भई ...।’’  

शाह ने कहा, ‘‘नोटबंदी से विपक्षियों के चेहरे मुरझा गये हैं। कांग्रेस, सपा, बसपा, केजरीवाल, ममता ...फलाने ढि़काने ... सब एक हो गये हैं और सब इकट्ठा बोल रहे हैं।’’ उन्होंने सपा और बसपा की सरकारों के शासनकाल में कानून व्यवस्था की खराब स्थिति, भ्रष्टाचार और अराजकता की चर्चा करते हुए मौजूदा सपा सरकार पर तंज कसा, ‘‘गोमती किनारे सौन्दर्यीकरण करने से उत्तर प्रदेश का विकास नहीं हो सकता। परिवर्तन भाजपा ही कर सकती है।’’ साथ ही प्रधानमंत्री मोदी की आेर से युवाआें का आहवान किया, ‘‘इतिहास युवा बनाता है, परिवर्तन युवा करता है। देश को युवा आगे बढाता है इसलिए युवा उत्तर प्रदेश के चुनाव महोत्सव में जुटें और परिवर्तन कर हम सबका सहयोग करें।’’

अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अगले पांच साल किसकी सत्ता होगी, युवाआें को तय करना होगा। ‘‘जब तक उत्तर प्रदेश का विकास नहीं होगा, देश का विकास नहीं हो सकता। हम चाहते हैं कि सबकी आकांक्षाआें का स्थान भाजपा के चुनावी एजेंडा में हो। हम आपकी (जनता) आकांक्षाआें को मानना और पहचानना चाहते हैं। आपसे संवाद करना चाहते हैं। अगला चुनाव जन-भागीदारी पर होगा। हमने इसकी शुुरूआत की है। अगर ये प्रयोग सफल रहा तो सभी पार्टियों को संवाद करना होगा, लोगों की अपेक्षा जाननी होगी और उन पर खरा उतरना होगा।’’  

उन्होंने कहा कि उतर प्रदेश का जितना विकास होना चाहिए था, नहीं हुआ। भाजपा शासित मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ, महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा, गोवा और झारखंड जैसे राज्यों में विकास हुआ है। ‘‘गांव पीछे छूटेगा तो देश का विकास नहीं कर पाएंगे, गरीब पीछे छूटेगा तो विकास नहीं होगा। ये स्थिति भाजपा ही बदल सकती है। और कोई नहीं। हम विकास की राजनीति करने वाली पार्टी हैं। मोदी सरकार सुधार नहीं बल्कि आमूल चूल परिवर्तन चाहती है। परिवर्तन का काम भाजपा करेगी।’’ शाह ने मोदी सरकार की आेर से गांव, गरीब, पिछड़ों और आम जनता के लिए शुरू की गयी योजनाआें और कार्यक्रमों का भी उल्लेख किया।

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You