अयोध्या में एक लाख 71 हजार दीप जलाकर बनाया गया विश्व रिकार्ड

You Are Here
अयोध्या में एक लाख 71 हजार दीप जलाकर बनाया गया विश्व रिकार्डअयोध्या में एक लाख 71 हजार दीप जलाकर बनाया गया विश्व रिकार्डअयोध्या में एक लाख 71 हजार दीप जलाकर बनाया गया विश्व रिकार्ड

अयोध्या: जय श्रीराम के गगनभेदी नारों और हेलीकाप्टर से की गयी पुष्प वर्षा के बीच मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की नगरी अयोध्या आज एक लाख 71 हजार दीपक प्रज्जवलित कर गिनीज बुक आफ वल्र्ड रिकार्ड में दर्ज हो गयी।  

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने भगवान राम के वन से वापसी के समय त्रेता युग के अनुभवों का अहसास कराने के लिए अयोध्या में दीपोत्सव और राम राज्याभिषेक समारोह का आयोजन किया था। योगी के अनुसार अयोध्या नगर निगम(अयोध्या और फैजाबाद शहर) की आबादी एक लाख 71 हजार है इसीलिए इतने ही दीपक जलाने का निर्णय लिया गया था। दीपक जलवाने में छात्र-छात्राओं के साथ ही कई स्वयं सेवी संस्थाओं ने सहयोग किया। दीपोत्सव की छटा देखते ही बन रही थी। लग रहा था कि सरयू नदी के तट पर त्रेता युग वापस आ गया है। 

मान्यताओं के अनुसार राम का जन्म त्रेता युग में ही हुआ था। वन से वापसी पर अयोध्यावासियों दीपक जलाकर खुशियां मनायी थीं। उन्हीं खुशियों की याद ताजा करते हुए अयोध्या को अतीत में ले जाने का प्रयास किया गया।  दीपोत्सव के पहले सरयू नदी की आरती की गयी। राम का राज्याभिषेक किया गया। साकेत महाविद्यालय से रामकथा पार्क तक 11 झाकिंयां निकाली गयीं। त्रेता युग में राम की श्रीलंका से पुष्पक विमान से वापसी हुई थी। आज हवाई पट्टी पर राम, लक्ष्मण और सीता का मिलन भरत से कराया गया। हवाई पट्टी से ही हेलीकाप्टर को पुष्पक विमान बनाकर सरयू तट पर स्थित रामकथा पार्क लाया गया। हेलीकाप्टर से राज्याभिषेक समारोह और झांकियों पर पुष्प वर्षा की गयी। 

नाईक और योगी ने जलाये 21 दीपक
अयोध्या में बहुप्रचारित दीपोत्सव कार्यक्रम में राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 दीपक जलाये। सरयू नदी के राम की पैडी पर दीपावली के एक दिन पहले छोटी दिवाली को आयोजित एक लाख 71 हजार दीपक जलाने के कार्यक्रम में नाईक और योगी ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। दोनों ने राज्याभिषेक समारोह को संबोधित करने के बाद राम की पैडी पर पहुंचकर दीपक जलाये। दोनों ने 51 हजार बत्तियों के साथ वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच सरयू नदी की आरती भी की। इस मौके पर सुरक्षा के व्यापक बन्दोबस्त किये गये थे। 

लेजर से हुआ राम लीला का मंचन
इस दौरान सरयू घाट पर रामलीला का मंचन लेजर के माध्यम से किया गया। जो लोगों के लिए कौतूहल का विषय बना रहा। लोग इसे देखने के लिए काफी उत्साहित दिखे। 

दीयों का बना रिकार्ड
सरयू घाट पर राम भक्तों ने 1 लाख 87 हजार 313 दिया जलाया, जो एक रिकार्ड भी है। इससे पहले सिरसा के राम रहीम द्वारा 1लाख 85 हजार 09 दीयों को जलाया गया था। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!