Subscribe Now!

चलती बस में महिला यात्रियों से छेड़छाड़, विरोध जताने पर सिर फोड़ा

  • चलती बस में महिला यात्रियों से छेड़छाड़, विरोध जताने पर सिर फोड़ा
You Are Here
चलती बस में महिला यात्रियों से छेड़छाड़, विरोध जताने पर सिर फोड़ाचलती बस में महिला यात्रियों से छेड़छाड़, विरोध जताने पर सिर फोड़ाचलती बस में महिला यात्रियों से छेड़छाड़, विरोध जताने पर सिर फोड़ा

देहरादून/ ब्यूरो। मंगलवार देर शाम देहरादून में एक चलती बस में चार मनचलों ने उसमें सवार महिलाओं के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। महिलाओं ने इसका विरोध किया तो वह मारपीट करने लगे। बस में सवार अन्य पुरुष यात्रियों ने इसका विरोध किया तो उनके साथ भी मारपीट करने लगे। करीब 20 मिनट तक बस में मनचलों का तांडव चलता रहा, यात्रियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने चारों मनचलों को गिरफ्तार कर लिया। चारों युवक पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार के रहने वाले हैं।

घटना देहरादून डीएल रोड से नवादा रूट पर चलने वाली बस में हुई। बस में सवार चार युवकाें ने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करनी शुरू कर दी। महिलाओं ने युवकों की हरकतों का विरोध किया तो मनचले युवक महिलाओं के साथ मारपीट करने लगे। युवकों ने एक महिला रश्मि निवासी हरिपुर नवादा के सिर पर बोतल मार दी जिससे वह जख्मी हो गई, इससे बस में बैठे लोग घबरा गए।

इस बीच बस में सवार कुछ युवकों ने इसका विरोध किया तो उनके साथ भी मारपीट की। जिसमें अंकित निवासी प्रवेश विहार और रिंकू निवासी नई बस्ती अमरनाथ काॅलोनी देहरादून निवासी चोटिल हो गए। बस में हंगामा होने लगा। इस बीच बस चालक ने बस को सीधे आराघर पुलिस चौकी के पास रोक दिया।

सूचना पर चौकी से पुलिस मौके पर पहुंची और मनचलों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए मनचलों में कृष्णा नेगी और अंकित नेगी, ग्राम हरिसिंहपुर कोटद्वार, सूरज पटवाल निवासी चौहान माेहल्ला काशीरामपुर तल्ला कोटद्वार, संजय सिंह रावत निवासी कोटद्वार शामिल हैं। पुलिस ने घायल महिला और युवकों का मेडिकल करवाकर आरोपी युवकों के खिलाफ मंगलवार देर रात को ही मुकदमा दर्ज कर लिया था। 

दून में पहले भी हुईं ऐसी घटनाएं
बीते पांच दिसंबर को प्रेमनगर से देहरादून आ रही सिटी बस में सवार एक शिक्षिका को बल्लूपुर चौक पर उतारने के बजाय ड्राइवर ने तेज रफ्तार से बस को फ्लाइओवर पर दौड़ा दिया था। तब बस में सवार अधिकांश यात्री उतर चुके थे। घटना शाम करीब साढ़े छह बजे के अासपास की है। जब लगभग अंधेरा हो चुका था।

महिला ने जब बस रोकने को कहा तो चालक ने बस की रफ्तार और बढ़ा दी। जब महिला ने यूं ही फोन निकालकर ऐसा जताया कि वह पुलिस से बात कर रही है तो किशनरगर चौक पर चालक ने बस को रोक दिया और महिला बस से उतर गई। तब महिला ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को ट्वीट कर घटना की जानकारी दी थी।

सीएम के निर्देश पर पुलिस ने बस चालक और परिचालक के खिलाफ कार्रवाई की थी। बीते शनिवार की रात को भी इसी तरह की एक घटना सामने आई जब रायपुर थाना क्षेत्र के तपोवन इनक्लेव क्षेत्र से एक युवती का कुछ मनचलों ने अपहरण कर लिया।

युवती की मां ने पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि उनके घर के पास रात करीब साढ़े नौ बजे एक कार रुकी और उसकी बेटी को जबरन कार में खींचकर तेजी से फरार हो गए। बाद में युवती को आईएसबीटी के पास छोड़ दिया। पुलिस ने मामले में अज्ञात मनचलों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था।




अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन