यमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी का 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका, रद्द किए 17 प्रोजैक्ट्स

  • यमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी का 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका, रद्द किए 17 प्रोजैक्ट्स
You Are Here
यमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी का 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका, रद्द किए 17 प्रोजैक्ट्सयमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी का 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका, रद्द किए 17 प्रोजैक्ट्सयमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी का 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका, रद्द किए 17 प्रोजैक्ट्स

नोएडा: यमुना एक्सप्रैस-वे डिवैल्पमैंट अथॉरिटी ने 6 बिल्डर्स को तगड़ा झटका देते हुए 17 ग्रुप हाऊसिंग प्रोजैक्ट्स को रद्द कर दिया है। ले-आऊट अप्रुवल न लेने की वजह से हुई इस कार्रवाई से सैंकड़ों बायर्स भी फंस गए हैं, जो इन प्रोजैक्ट्स में निवेश कर चुके हैं। जिन बिल्डर्स के प्रोजैक्ट रद्द किए गए हैं, उनमें जे.पी. ग्रुप, गौड़ सन्स प्राइवेट लिमिटेड, वी.जी.ए. डिवैल्पर्स, अजनारा इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ओरिस इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड, अरबेनिया प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं।

बता दें कि जे.पी. समूह को 168 किलोमीटर लंबे यमुना एक्सप्रैस-वे बनाने की एवज में निर्माण शर्तों के अनुसार नोएडा से लेकर आगरा तक 5 जगहों पर 500-500 हैक्टेयर जमीन दी गई थी। समूह ने दनकौर के पास मिली जमीन में से कुछ हिस्से गौड़ सन्स प्राइवेट लिमिटेड, वी.जी.ए. डिवैल्पर्स, अजनारा इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ओरिस इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड, अरबेनिया प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिए। वहीं बाकी जगह पर कमर्शियल और रैजिडैंशियल प्रोजैक्ट लॉन्च किए। इन बिल्डर्स ने ले-आऊट पास नहीं कराया था। अब यमुना एक्सप्रैस-वे अथॉरिटी ने इन प्रोजैक्ट्स को रद कर दिया है।

गौड़ सन्स के सैक्टर-19, जे.पी. ग्रुप के सैक्टर-25, अजनारा के सैक्टर-22 ए, ओरिस के सैक्टर-22 डी और अरबेनिया के सैक्टर-25 एस.डी.जैड. में सैंकड़ों बायर्स फ्लैट और प्लाट की बुकिंग करा चुके हैं। वहीं इससे पहले जे.पी. ग्रुप के 5 प्रोजैक्ट के ले-आऊट रिजैक्ट किए जा चुके हैं। इन प्रोजैक्ट में फंसे बायर्स ने जे.पी. समूह के अधिकारियों के खिलाफ दनकौर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई हुई है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You