कहां गया योगी का वादा, जान जोखिम में डाल सड़कों पर चलने को मजबूर हैं लोग

You Are Here
कहां गया योगी का वादा, जान जोखिम में डाल सड़कों पर चलने को मजबूर हैं लोगकहां गया योगी का वादा, जान जोखिम में डाल सड़कों पर चलने को मजबूर हैं लोगकहां गया योगी का वादा, जान जोखिम में डाल सड़कों पर चलने को मजबूर हैं लोग

इलाहाबाद(सैय्यद रज़ा): उत्तर प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त करने की मियाद 15 जून तक पूरी हो चुकी है, लेकिन योगी सरकार अभी भी अपने इस वायदे को तय समय पर पूरा नहीं कर पाई है।यूपी के PWD मंत्री के गृह नगर इलाहाबाद की हालत यह है कि महज कुछ ही सड़कें गड्ढा मुक्त हो सकी हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि शहरी इलाकों में भी सड़के अभी गड्ढों से मुक्त नहीं हो पाई हैं।

बता दें कि इलाहाबाद यूपी के PWD मंत्री और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या का गृह नगर है। यहां के करेली इलाके की सड़कों की हालत को देखकर यह बता पाना मुश्किल है कि सड़कों में गड्ढे हैं या गड्ढों में सड़कें हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें योगी सरकार से बहुत उम्मीदें थी लेकिन अभी तक कोई भी उम्मीद कारगर साबित नहीं हो पाई है। PWD विभाग के अधिकारी इस मामले में कैमरे में खुलकर बात करने से परहेज कर रहे है।

विभाग के सूत्रों के मुताबिक़ इलाहाबाद में 50 फीसदी सड़कें अभी भी गड्ढों से मुक्ति का इन्तजार कर रही हैं। वैसे जब उप मुख्यमंत्री के गृह नगर में सूबे के सरकार के सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के अभियान की यह हालत है तो सूबे के दूसरे जिलों की हालत का आप खुद अंदाजा लगा सकते है। इलाहाबाद ज़िले से सूबे में तीन कैबिनेट मंत्री है और एक उपमुख्यमंत्री है। फिर भी मंत्रियों वाले शहर की हालत सड़कों के मामले में दयनीय है।



UP LATEST NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You