जब गर्भवती पत्नी ने नहीं किया 3 तलाक का समर्थन तो पति ने 10 लड़कों से कराया गैंगरेप

You Are Here
जब गर्भवती पत्नी ने नहीं किया 3 तलाक का समर्थन तो पति ने 10 लड़कों से कराया गैंगरेपजब गर्भवती पत्नी ने नहीं किया 3 तलाक का समर्थन तो पति ने 10 लड़कों से कराया गैंगरेपजब गर्भवती पत्नी ने नहीं किया 3 तलाक का समर्थन तो पति ने 10 लड़कों से कराया गैंगरेप

आगराः उत्तर प्रदेश के आगरा में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिसे सुन के आप की भी रूह कांप उठेगी। जहां एक महिला के पति ने दरिंदगी की सारी हदें पार करते हुए पत्नी के 3 तलाक का विरोध करने पर उसे घर में कैद रखा। इतना ही नहीं प्रेग्नेंसी के दौरान अपने सामने 10 लड़कों से उसका गैंगरेप भी कराया। इससे उसकी बच्चेदानी फट गई।

क्या है पूरा मामला ?
दरअसल मामला शाहगंज आजम पाड़ा थाना क्षेत्र का है। जहां इलिशा (काल्पनिक नाम) की शादी 21 अप्रैल 2014 को सराय ख्वाजा थाना क्षेत्र की रहने वाले जावेद हुसैन से हुई थी। पीड़िता के मुताबिक 18 अक्टूबर 2016 को जब आगरा मुख्यालय पर कुछ मुस्लिम संगठनों द्वारा तीन तलाक के पक्ष में महिलाओं की रैली निकाली जा रही थी, तो जावेद ने अपनी पत्नी को रैली में शामिल होने को कहा। रैली में जाने वाली महिलाओं को पैसे भी मिल रहे थे। इस सबके बावजूद पीड़िता ने रैली में जाने से इंकार कर दिया।

पति की मौजूदगी में 10 लोगों से करवाया गैंगरेप 
जिसके बाद पीड़िता को उसके पति ने मारा-पीटा और कमरे में बंद कर दिया। इतना ही नहीं लगातार दो रात 3-3 युवकों द्वारा पीड़िता का गैंगरेप कराया गया। उस समय पीड़िता 2 महीने से प्रेग्नेंट थी। गैंगरेप होने से पीड़िता का बच्चा गिर गया। किसी तरह पीड़िता पति के चुगंल से बच कर थाने पहुंची। जिस दौरान पीड़िता की 2 फोटो वायरल भी हुईं। इसमें एक में हाथ-पैर बंधे हुए हैं और दूसरी में पीठ पर पिटाई के निशान हैं। पुलिस ने मामले को दबाते हुए पीड़िता को वापस ससुरालियों के साथ भेज दिया। जहां फिर से उसे कैद कर दिया गया। पीड़िता का आरोप है कि पति की मौजूदगी में 10 लोगों से उसका गैंगरेप करवाया गया।

पुलिस अधिकारियों के काट रही चक्कर 
पीड़िता महीनों तक गैंगरेप का शिकार होने के बाद इसी साल फरवरी में वहां से किसी तरह भाग निकली और मायके में जाकर शरण ली। पीड़िता  तभी से न्याय के लिए पुलिस के चक्कर लगा रही है। इस मामले में पुलिस ने 4 जून को पीड़िता के पति और उसके 4 साथियों के खिलाफ केस दर्ज किया, लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। पीड़िता अब मुख्यमंत्री से मिलने की कोशिश कर रही है लेकिन अभी तक उसे मुलाकात का समय नहीं मिला है।
 



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!