Subscribe Now!

रिकवरी एजेंटों की बेरूखीः जब ट्रैक्टर की किश्त नहीं चुका पाया किसान, तो उतारा मौत के घाट

  • रिकवरी एजेंटों की बेरूखीः जब ट्रैक्टर की किश्त नहीं चुका पाया किसान, तो उतारा मौत के घाट
You Are Here
रिकवरी एजेंटों की बेरूखीः जब ट्रैक्टर की किश्त नहीं चुका पाया किसान, तो उतारा मौत के घाटरिकवरी एजेंटों की बेरूखीः जब ट्रैक्टर की किश्त नहीं चुका पाया किसान, तो उतारा मौत के घाटरिकवरी एजेंटों की बेरूखीः जब ट्रैक्टर की किश्त नहीं चुका पाया किसान, तो उतारा मौत के घाट

सीतापुरः उत्तर प्रदेश के सीतापुर में उस समय हड़कंप मच गया जब कर्ज की अदाएगी न करने पर ट्रैक्टर वापस लेने आए रिकवरी एजेंटों ने किसान को उसी से कुचलकर मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं इस घटना के बाद एजेंटों ने घायल किसान को  अस्पताल पहुंचाना भी मुनासिब नहीं समझा और ट्रैक्टर लेकर मौके से फरार हो गए। 

जानिए पूरा मामला 
जानकारी के मुताबिक घटना सीतापुर जिले के महमूदाबाद थाना क्षेत्र के भौरी गांव की है। जहां के निवासी किसान ज्ञानचंद ने ट्रैक्टर खरीदने के लिए एक फाइनेंस कम्पनी से कर्ज लिया था। मगर पिछले कुछ महीनों घर के हालात ठीक ना होने के कारण वह किश्त नहीं जमा करा पा रहा था। किसान का करीब 90 हजार रुपए बकाया था, जिसे लेने के लिए रिकवरी एजेंट किसान के घर गए।

रिकवरी एजेंट ने कुचलकर उतारा मौत के घाट-परिजन
इसी दौरान पैसे ना मिलने के बाद रिकवरी एजेंटों ने किसान को अपना ट्रैक्टर सौंपने के लिए कहा, लेकिन किसान नहीं माना। परिजनों की मानें तो किसान के ना मानने पर रिकवरी एजेंट ने उस पर ट्रैक्टर चलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। 

पुलिस ने किया मामला दर्ज
वहीं ज्ञानचंद के भाई ओमप्रकाश ने बताया कि कुछ रिकवरी एजेंट घर आए और जबरन ट्रैक्टर ले जाने लगे। ज्ञानचंद ने उन्हें रोकने की हरसम्भव कोशिश की। इसी दौरान वह ट्रैक्टर से नीचे गिर गया। तभी ट्रैक्टर चला रहे रिकवरी एजेंट ने ज्ञानचंद को कुचल दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में सुधीर, अमित, रामजी समेत 2 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास करने शुरू कर दिए हैं। 




अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन