यूपी कारागार राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक पर लगाया घूस देने का आरोप, FIR दर्ज

  • यूपी कारागार राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक पर लगाया घूस देने का आरोप, FIR दर्ज
You Are Here
यूपी कारागार राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक पर लगाया घूस देने का आरोप, FIR दर्जयूपी कारागार राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक पर लगाया घूस देने का आरोप, FIR दर्जयूपी कारागार राज्यमंत्री ने जेल अधीक्षक पर लगाया घूस देने का आरोप, FIR दर्ज

लखनऊः जेल राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी ने बाराबंकी जेल के अधीक्षक उमेश कुमार सिंह पर रिश्वत देने का आरोप लगाया है। जेल राज्य मंत्री के निर्देश पर उनके गनर ने हजरतगंज कोतवाली में जेल अधीक्षक के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं आरोपित जेल अधीक्षक ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

नशे में हालत में मंत्री के आवास पहुंचे थे अधीक्षक
हजरतगंज पुलिस के मुताबिक जेल राज्य मंत्री का गनर सौरभ बीती रात कोतवाली आया था। उसकी तहरीर के मुताबिक बाराबंकी के जेल अधीक्षक उमेश कुमार सिंह उनके आवास पर आए। वह नशे में थे। इस पर मंत्री ने उनसे मिलने से इनकार कर दिया। जब जेल अधीक्षक नहीं माने तो मंत्री ने उन्हें डांटा। इस पर उमेश कुमार ने अपनी जेब से एक लिफाफा निकाला और मेज पर रख दिया। मंत्री ने उमेश से पूछा- इसमें क्या है तो वो लिफाफा छोड़कर वहां से भाग निकले।

मंत्री के गनर ने एफआईआर दर्ज कराई
वहां मौजूद एक कर्मचारी विख्यात वर्मा ने लिफाफा खोला तो उसमें 50 हजार रुपए थे। मंत्री ने इस सम्बन्ध में एफआईआर लिखाने की बात कही। इसके बाद उन्होंने पुलिस अफसरों से इस बारे में शिकायत की। फिर बीती उनका गनर सौरभ मुकदमा लिखाने कोतवाली पहुंचा था।

भ्रष्टाचार के तहत मामला दर्ज
तहरीर में लिखा गया है कि उमेश नशे की हालत में थे और ठीक से बोल नहीं पा रहे थे। इस सम्बन्ध में हजरतगंज कोतवाली में भ्रष्टाचार अधिनियम (60/13) के तहत एफआईआर लिखी गई है। इस एफआईआर के बारे में शासन को भी अवगत करा दिया गया है।

जानिए क्या कहना है जेल अधीक्षक का
वहीं इस मामले पर जेल अधीक्षक उमेश ने कहा- ''मेरी कारागार मंत्री से कोई मुलाकात नहीं हुई है और न ही मैं कभी उनसे मिलने गया हूं। वह मुझे पहचानते भी नहीं होंगे। मेरे खिलाफ तहरीर दी गई, इसकी मुझे जानकारी नहीं है।''



UP LATEST NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!