‘मोटरसाइकिल के लिए पैसा कहां से आया, बताएं PM मोदी’

  • ‘मोटरसाइकिल के लिए पैसा कहां से आया, बताएं PM मोदी’
You Are Here
‘मोटरसाइकिल के लिए पैसा कहां से आया, बताएं PM मोदी’‘मोटरसाइकिल के लिए पैसा कहां से आया, बताएं PM मोदी’‘मोटरसाइकिल के लिए पैसा कहां से आया, बताएं PM मोदी’

लखनऊ: नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति लगातार हमलावर रूख अपनाने वाली बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने कहा कि नोटबंदी के बावजूद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए बड़ी तादाद में खरीदी गई मोटरसाइकिलों के लिए धन के श्रोत को सार्वजनिक करना चाहिए।

नरेन्द्र मोदी बताएं चुनाव प्रचार के लिए यह धन कहां से आया
मायावती ने यहां कहा कि नोटबंदी के पहले भाजपा ने बड़े पैमाने पर कामीनों की खरीद और बैंकों में धन जमा करने के बारे में मेरे सवाल का जवाब अब तक नहीं दिया और अब चुनाव प्रचार के लिए बड़ी तादाद में बाइकों की खरीदफरोख्त की गई। भाजपा और खासकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बताना चाहिए कि चुनाव प्रचार के लिए यह धन कहां से आया। उन्होंने सवाल किया कि क्या यह धन भाजपा का कालाधन है या बड़े-बड़े पूंजीपतियों या धन्नासेठों द्वारा उसी प्रकार से उपलब्ध कराया गया है जिस प्रकार से सन् 2014 के लोकसभा आम चुनाव के दौरान जुगाड़ के तहत भाजपा को उपलब्ध कराया गया था। मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) और केन्द्र की भाजपा सरकार की चुनावी वादा-खिलाफी और मिलीभगत के कारण दोनों पार्टियों की हालात काफी खराब है, मगर नोटबंदी के प्रकोप और त्रासदी से भाजपा का बच पाना अब बहुत ही मुश्किल है।

जनता भाजपा को नोटबंदी की सजा जरूर देगी
मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आमचुनाव के मद्देनजर भाजपा चाहे कितनी ही बाइक उत्तर प्रदेश में दे दे और प्रचार के लिए कितनी भी गाड़ियां एवं सभी 403 विधानसभा क्षेत्र में हेलीकॉप्टर ही क्यों न उतार दे, तो भी प्रदेश की जनता भाजपा को नोटबंदी की सजा जरूर देगी तथा अब उत्तर प्रदेश मे सत्ता में आने का इनका सपना एक डरावना ख्वाब बनकर रह जाएगा। बसपा प्रमुख ने कहा कि अपरिपक्व तरीके से की गई नोटबंदी के कारण देश की लगभग 90 प्रतिशत से अधिक गरीब, मजदूर, किसान व दूसरी मेहनतकश जनता परेशान है। उन्हें अब अपना पेट पालना बहुत मुश्किल हो रहा है, मगर सबसे ज्यादा गरीब व मजदूर एवं किसान वर्ग गम्भीर संकट में हैं।

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You