मेरठ में महिला दरोगा की इस हरकत से एक बार फिर दागदार हुई खाकी

You Are Here
मेरठ में महिला दरोगा की इस हरकत से एक बार फिर दागदार हुई खाकीमेरठ में महिला दरोगा की इस हरकत से एक बार फिर दागदार हुई खाकीमेरठ में महिला दरोगा की इस हरकत से एक बार फिर दागदार हुई खाकी

मेरठ(आदिल रहमान): उत्तर प्रदेश में मेरठ जिले के शहर कोतवाली में तैनात महिला दरोगा को एंटी करप्शन टीम ने 20,000 रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। एंटी करप्शन की टीम ने महिला दरोगा से रिश्वत के 20,000 रूपए बरामद करते हुए मुकदमा भी दर्ज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार गाजियाबाद के मोदीनगर निवासी समीर की पत्नी ने कोर्ट के माध्यम से दहेज उत्पीड़न ,रेप सहित कई अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें कोतवाली थाने में तैनात महिला दरोगा अमृता यादव को मुकदमे में जांच अधिकारी नियुक्त किया गया था। विवेचना के दौरान महिला दरोगा अमृता यादव ने समीर को फोन कर बुलाया और मुदकमे में लिखी गई धाराओं में 2 धाराएं कम करने के नाम पर 1 लाख रूपए की मांग की।

इसके बाद पीड़ित ने इस बात की शिकायत एंटी करप्शन टीम से की। शिकायत मिलने के बाद एंटी करप्शन टीम की 6 सदस्यों की टीम ने समीर के साथ 2 लोगों को पैसे लेकर महिला दरोगा के साथ भेज दिया। उधर, महिला दरोगा ने समीर और उसके परिजनों को 20,000 रुपयों के साथ बुलाया था। जब महिला दरोगा समीर और उसके परिजनों से बुढ़ाना गेट पुलिस चौकी पर रिश्वत ले रही थी तभी एंटी करप्शन की टीम ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया।

वहीं, एंटी करप्शन टीम के प्रभारी उदयवीर का कहना है कि गाजियाबाद के मोदीनगर निवासी समीर की शिकायत के बाद हमारी टीम ने कोतवाली में तैनात महिला दरोगा अमृता यादव को 20,000 रूपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। अब अमृता पर मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया जाएगा।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You