Subscribe Now!

हिस्ट्रीशीटर का विवाहिता पर आया दिल, पाने के लिए पहुंचा इस हद तक

  • हिस्ट्रीशीटर का विवाहिता पर आया दिल, पाने के लिए पहुंचा इस हद तक
You Are Here
हिस्ट्रीशीटर का विवाहिता पर आया दिल, पाने के लिए पहुंचा इस हद तकहिस्ट्रीशीटर का विवाहिता पर आया दिल, पाने के लिए पहुंचा इस हद तकहिस्ट्रीशीटर का विवाहिता पर आया दिल, पाने के लिए पहुंचा इस हद तक

आगरा: प्रदेश में योगी राज शुरू होते ही प्रदेश के मुखिया ने आधी आबादी की सुरक्षा के तमाम वादे किए। इन वायदों को अमलीजामा पहनाने के लिए एंटी रोमियो स्क्वायड की तैनाती के साथ-साथ 1090 को दुरुस्त किया है, लेकिन इसके बाद भी आधी आबादी सुरक्षित नहीं है।

ऐसा ही एक मामला थाना जगदीशपुरा के बालाजीपुरम अल्बतिया रोड का है। क्षेत्र के एक दबंग हिस्ट्रीशीटर का दिल शादीशुदा विवाहिता पर आ गया है। आशिक बने इस हिस्ट्रीशीटर ने इस विवाहिता और उसके परिवार का जीना दुश्वार कर दिया है जिसकी शिकायत पीड़िता ने एस.पी. सिटी से की है और प्रार्थना पत्र देकर उचित कार्रवाई की मांग करते हुए अपना दर्द बताया।

पीड़िता का कहना था कि आरोपी विनय प्रताप उर्फ वी.पी. ने कुछ समय पहले पीड़िता की बेटी को उठा लिया और उसे धमकाया कि वह उसकी बेटी को जान से मार देगा अगर वह उसके पास नहीं आई। हालातों से मजबूर रानी बेटी की जान बचाने के लिए वी.पी. के पास पहुंची तो उसने अपने मोबाइल से रानी के साथ कई सारी सैल्फी खींची और अब वह सैलफियों को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के बीच वायरल कर लगातार रानी को बदनाम करने में जुटा हुआ है।

पीड़िता ने बताया कि 3 साल से वह अपने बीमार पति और बच्चों के साथ जीवनयापन कर रही है लेकिन दबंग जबरन उसे अपने साथ रखने का दबाव बना रहा है और विरोध करने पर उसे तेजाब से जला देने, उसके पति का मर्डर करने और दोनों बेटियों को उठा ले जाने की धमकी दे रहा है। इसकी शिकायत करने पर वी.पी. रानी व उसके परिवार का दुश्मन बन गया है और आए दिन उसके घर पर मारपीट और तोड़-फोड़ कर रहा है। पीड़िता ने एस.पी. सिटी से गुहार लगाई है। पीड़ित रानी का कहना है कि वी.पी. की दहशत के चलते वह और उसकी बेटियां घर में कैद होकर रह गई हैं। रानी का कहना है कि विनय जबरन उसे अपनी रखैल बनाना चाहता है।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन