सहारनपुर के बाद हापुड़ में भी सांप्रदायिक तनावः जमकर चले पत्थर, 6 घायल

You Are Here
सहारनपुर के बाद हापुड़ में भी सांप्रदायिक तनावः जमकर चले पत्थर, 6 घायलसहारनपुर के बाद हापुड़ में भी सांप्रदायिक तनावः जमकर चले पत्थर, 6 घायलसहारनपुर के बाद हापुड़ में भी सांप्रदायिक तनावः जमकर चले पत्थर, 6 घायल

हापुड़ः यूपी का सहारनपुर सांप्रदायिक विवाद अभी ठीक से शांत भी नहीं हुआ था कि अब हापुड़ से सांप्रदायिक तनाव की खबरें आने लगी है।जानकारी के अनुसार हापुड़ के थाना सिम्भावली के गांव डहाना देवली मे एक धार्मिक स्थल को बनाने को लेकर 2 समुदाय के लोग आपस में भिड़ गए। दोनों समुदाय ने एक दूसरे पर जमकर पत्थर चलाए जिससे आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए।

SDM पर लगा मिलीभगत का आरोप 
इस सांप्रदायिक बवाल में घायल हुए लोगों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जब इस घटना का पता चला तो पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराने लगे। लोगों का कहना है कि इस मामले में एसडीएम पहले ही सुनवाई किए होते तो शायद इतना बड़ा तनाव लोगों के बीच पैदा नहीं होता। लोगों का यह भी आरोप है की एसडीएम की मिली भगत से लोगो ने गांव में घंटो तांडव मचाया है।

धार्मिक स्थल में घूसकर की मारपीट
जानकारी के मुताबिक हापुड़ के डहाना देवली गांव में बन रहे एक धार्मिक स्थल से एक समुदाय नाराज था। बीते दिन इस समुदाय के लोग निर्माण स्थल पर पहुंचे और निर्माणाधीन धार्मिक स्थल में घुस कर तोड़फोड़ और जमकर मारपीट की। इस बात की खबर जब दूसरे समुदाय वालों को पता चली तो वो भी धार्मिक स्थल की तरफ निकल पड़े। इसके बाद दोनों समुदाय ने एक दूसरे पर जमकर पत्थर चलाए जिसमें आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

शुरु में ही नहीं हुई कोई कार्रवाईः गांव
गांव में जब इस धार्मिक स्थल को लेकर विवाद शुरू हुआ उसी समय दोनों समुदाय के लोगों ने एसडीएम आंनद पाण्डेय को प्रार्थनापत्र देकर इस मामले में जांच करने को कहा था, लेकिन एसडीएम आंनद पाण्डेय अपने कमरे से बाहर तक नहीं निकले और जांच कराने के बजाय जांच को ठण्डे बस्ते मे डाल दिया। जिसका खमियाजा आज देखने को मिला। आज के बवाल में घायल के एक ग्रामीण ने कहा कि यह बबाल एसडीएम आंनद पाण्डेय की वजह से हुआ है, वो चाहते तो बवाल पहले ही शांत हो जाता।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!