इंसानियत हुई शर्मसारः नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को 60 हजार में बेचा

  • इंसानियत हुई शर्मसारः नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को 60 हजार में बेचा
You Are Here
इंसानियत हुई शर्मसारः नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को 60 हजार में बेचाइंसानियत हुई शर्मसारः नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को 60 हजार में बेचाइंसानियत हुई शर्मसारः नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को 60 हजार में बेचा

फर्रुखाबादः फर्रुखाबाद में इंसानियत को शर्मसार करता हुआ एक मामला सामने आया है। यहां एक नाबालिग को 3 लोगों ने नौकरी का झांसा देकर 2 दिन तक एक मकान में बंधक बनाकर रखा। इसके बाद उसे शादी के लिए 30 वर्षीय युवक को 60 हजार रुपए में बेच दिया गया। पीड़िता ने पूरी कहानी खरीदने वाले युवक को बताई जिसके बाद उसने घटना की जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने किशोरी को बेचने के आरोप में महिला सहित 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के मुताबिक मामला बिहार प्रांत के जनपद खगड़िया थाना बाबू बगीचा के गांव चंडीटोंक का है। जहां की निवासी 15 वर्षीय पुष्पा काम की तलाश में लखनऊ आ गई थी। काफी भटकने के बाद काम नहीं मिला तो वह घर लौटकर जा रही थी। इसी दौरान उसे बिहार के जनपद पटना हनुमान मंदिर के निकट रहने वाले मानसिंह, उसकी पत्नी सीमा व साले बनवारी मिल गए। सीमा ने उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर एक मकान में 2 दिन तक बंधक बनाकर रख लिया।

इसके बाद उन्होंने नाबालिग को रजीपुर निवासी स्पेलर चक्की संचालक रजनीश के हाथों 60 हजार रुपए में बेच दिया। पीड़िता ने पूरी कहानी रजनीश व उसकी भाभी को बता दी। जिसके बाद युवक ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। वहीं थानाध्यक्ष संजय कुमार राय ने महिला सहित 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़िता ने बताया कि वह हाईस्कूल तक पढ़ी है। वह ताऊ के पास रहती है। घर पर परिजनों ने डांट दिया तो वह काम की तलाश में लखनऊ आ गई थी। पुलिस अधीक्षक दयानन्द मिश्रा ने बताया कि परिजनों के आने तक उसे नारी निकेतन के सुपुर्द किया जाएगा।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You