निजी क्षेत्र में दलित पिछड़ों को आरक्षण BSP की पुरानी मांग: मायावती

  • निजी क्षेत्र में दलित पिछड़ों को आरक्षण BSP की पुरानी मांग: मायावती
You Are Here
निजी क्षेत्र में दलित पिछड़ों को आरक्षण BSP की पुरानी मांग: मायावतीनिजी क्षेत्र में दलित पिछड़ों को आरक्षण BSP की पुरानी मांग: मायावतीनिजी क्षेत्र में दलित पिछड़ों को आरक्षण BSP की पुरानी मांग: मायावती

लखनऊः बसपा सुप्रीमो मायावती ने दलित और पिछड़े वर्ग को निजी क्षेत्र में आरक्षण दिए जाने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी समेत किसी भी सरकार ने समाज के इन वर्गों के उद्धार के लिए कोई ठोस पहल नहीं की है।

मायावती ने कहा कि बड़े स्तर पर सरकारी काम जब से निजी क्षेत्रों को दिए जाने का प्रचलन बढ़ा है। बसपा पीड़ित दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़े वर्गाें के लोगों को निजी क्षेत्र में भी आरक्षण देने की मांग लगातार करती आ रही है। हालांकि बसपा के अलावा अन्य किसी दल अथवा सरकार ने इन वर्गाें को मुख्य धारा से जोड़ने और इनके जीवन में बुनियादी सुधार लाने के लिए कोई ठोस पहल नहीं की।

इस दौरान मायावती ने बिहार के मुुख्यमंत्री नीतिश पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ सत्ता मे बैठे लोगों को केंद्र में अपनी गठबंधन की सरकार से इन वर्गाें को प्राइवेट सेक्टर में भी आरक्षण देने की मांग करने की बजाय इन्हें इसमें सीधा आरक्षण दिलवाना चाहिए।

इस मामले में कोरी बयानबाजी करके मीडिया मे केवल सुर्खियां बटोरने से काम चलने वाला नहीं है, बल्कि सीएम नीतिश को पहले अपने स्तर पर ही कुछ काम करके भी दिखाना चाहिए। उन्होने कहा कि बसपा केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार से मांग करती है कि वह इन वर्गाें को निजी क्षेत्र में आरक्षण देने के साथ ही अगड़ी जाति के गरीब और मुस्लिम अल्पसंख्यकों के लिए भी अलग से आरक्षण देने की व्यवस्था करे। 
 



UP POLITICAL NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!