रीता बहुगुणा का बयान- 'मुझे पहले ही पता था कि 15 जून तक सड़कें नहीं हो पाएंगी गढ्ढा मुक्त'

  • रीता बहुगुणा का बयान- 'मुझे पहले ही पता था कि 15 जून तक सड़कें नहीं हो पाएंगी गढ्ढा मुक्त'
You Are Here
रीता बहुगुणा का बयान- 'मुझे पहले ही पता था कि 15 जून तक सड़कें नहीं हो पाएंगी गढ्ढा मुक्त'रीता बहुगुणा का बयान- 'मुझे पहले ही पता था कि 15 जून तक सड़कें नहीं हो पाएंगी गढ्ढा मुक्त'रीता बहुगुणा का बयान- 'मुझे पहले ही पता था कि 15 जून तक सड़कें नहीं हो पाएंगी गढ्ढा मुक्त'

जौनपुरः कैबिनेट मंत्री व जौनपुर की जिला प्रभारी मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने भी स्वीकार किया कि इतनी जल्दी यूपी की सड़कें गढ्ढा मुक्त नहीं हो सकती हैं। उन्होंने कहा 'मै जानती थी बारिश के पहले उत्तर प्रदेश की सड़कें गड्ढा मुक्त नहीं हो सकती हैं।'

काफी हद तक किया काम
मंत्री ने कहा कि प्रदेश की 1 लाख 21 हजार किलोमीटर तक की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया था। अब तक 70 हजार किलोमीटर की सड़कों की मरम्मत कर दिया गया है। जो सड़के बची है वह सरकार द्वारा खनन माफियाओं पर लगाम कसने के लिए बदली नीतियों से रुक गई हैं। सरकार ने खनन पर रोक लगा दिया था जिससे मटेरियल न मिलने से काम बाकी रह गया। 

कम समय में विकास कार्य की समीक्षा नहीं करनी चाहिए
सरकारी अस्पताल में मरीजों का इलाज न होने के बारे में कैबिनेट मंत्री ने कहा कि डाक्टरों और स्टॉफ की भारी कमी है। 3 माह के भीतर सरकार एक हजार डॉक्टर और 11000 पैरामेडिकल स्टॉफ की भर्ती करने जा रही है। धीरे-धीरे समस्या समाप्त हो जाएगी। रीता बहुगुणा ने कहा कि किसी सरकार का विकास कार्य की समीक्षा करने के लिए कम से कम 15 सप्ताह का समय देना चाहिए। इसके पहले सरकार के काम का विश्वेषण करना नाइंसाफी है।

UP POLITICAL NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!