अमेठी में महिला से छेड़छाड़ के बाद फाड़े कपड़े

  • अमेठी में महिला से छेड़छाड़ के बाद फाड़े कपड़े
You Are Here
अमेठी में महिला से छेड़छाड़ के बाद फाड़े कपड़ेअमेठी में महिला से छेड़छाड़ के बाद फाड़े कपड़ेअमेठी में महिला से छेड़छाड़ के बाद फाड़े कपड़े

अमेठी: उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा 4 दिसंबर से 10 दिसंबर तक नारी सुरक्षा सप्ताह मना कर महिला सुरक्षा का दावा किया गया। वहीं पुलिस विभाग के कुछ कर्मचारी ही इस मुहिम को आंख दिखा रहे हैं। मामला अमेठी का है जहां पुलिस के मातहतों की करतूत ने विभाग को शर्मसार कर दिया। अमेठी के मुसाफिरखाना कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में बेखौफ दबंग ने महिला से छेड़खानी की साथ ही उसके कपड़े भी फाड़ दिए। हद तो यह हो गई कि आरोपी द्वारा महिला को जान से मारने और दुष्कर्म करने की लगातार धमकी भी जा रही है। परेशान होकर जब पीड़िता अपनी शिकायत लेकर परिजनों के साथ कोतवाली पहुंची तो वहां बिना रिपोर्ट दर्ज किए ही पुलिस ने उन्हें टरका दिया।

यह है मामला
पीड़िता ने बताया कि अमेठी जिले के गांव घरौली निवासी पीड़िता के गांव के ही दबंग किस्म के लवकुश पासी 12 दिसम्बर को लगभग 2 बजे उसके गया। महिला का आरोप है कि लवकुश ने उसके साथ अश्लील हरकते करते हुए घर के अंदर की तरफ घसीटते हुए उसके कपड़े फाड़ डाले। चीख पुकार सुनकर जब पीड़ित के परिजन सहित कुछ लोग इकट्ठा हुए तो परिजनों को देखकर आरोपी दबंग ने कहा कि अगर इसकी शिकायत किसी से भी तो जान से मार देंगे। पीड़िता ने धैर्य दिखाते हुए इस कुकृत्य की 1090 पर शिकायत दर्ज भी करवाई, घटना के बाद से पीड़ित काफी डर गई।

पुलिस ने नहीं लिखी रिपोर्ट
आरोपी की धमकी के बाद भी महिला के परिजन उसको लेकर मुसाफिरखाना कोतवाली लेकर पहुंचे जहां महिला ने अपने साथ हुई वारदात की तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने आरोपी के नाम पढ़कर उन्हें वहां से टरका दिया। इसके बाद महिला ने जिले के डीएम से न्याय की गुहार लगायी है।

दावों की खुल रही पोल
जब घटना होती है तो पुलिस उल्टा ही पीड़ित को नए-नए तरीके बताती है। पीड़ित को बस इधर से उधर घूमाती है। सरकार, प्रशासन, पुलिस सभी अपने अपने दावे करते हैं। असल में नारी सुरक्षा कब होगी ये किसी को नहीं पता। महिलाएं और युवतियां ना तो घर में और ना ही बाहर सुरक्षित हैं।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन