पुलिस ने घर में घुसकर की मारपीट और लूट

You Are Here
पुलिस ने घर में घुसकर की मारपीट और लूटपुलिस ने घर में घुसकर की मारपीट और लूटपुलिस ने घर में घुसकर की मारपीट और लूट

कानपुरः वैसे तो यूपी पुलिस को मित्र पुलिस का दर्जा मिला हुआ है, लेकिन उनके कारनामे देख लगता नहीं कि वो आपकी मित्र है। कानपुर में पुलिस का कुछ ऐसा ही चेहरा देखने को मिला है। जहां नशे में धुत आधा दर्जन से ज्यादा पुलिस कर्मियों ने एक घर में घुसकर मारपीट और लूटपाट की है। इतना ही नहीं नशे में धुत पुलिस ने विरोध कर रही गर्भवती महिला के पेट पर भी लात मार दी। जिससे की उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

पुलिस ने जबरन घर में घुसकर की मारपीट
दरअसल पनकी थाना क्षेत्र के बदुआपुर गांव में रहने वाली रामकली के घर में देर रात आधा दर्जन पुलिस कर्मी जबरदस्ती घुसकर मारपीट और लूटपाट करने लगे। रामकली का आरोप है कि 3 प्राइवेट गाड़ियों में पुलिस वाले जबरन उसके घर में घुस आए। पुलिसवालों ने दरवाजे को लात मारकर तोड़ दिया।

गर्भवती महिला के पेट पर मारी लात
रामकली का ये भी आरोप है कि पुलिस ने मेरी बहु को पकड़कर जबरदस्ती करने की कोशिश की है, जब उसने इसका विरोध किया तो बहु के पेट पर लात मार कर बाहर निकल आए।

घर के सारे गहनों और नकदी पर से हाथ साफ
रामकली की मानें तो थाने का दरोगा व चौकी इंचार्ज मिश्रा साथ में थे। जब उनसे पूछा की सर क्या बात है जो रात में आये है तो  उन्होंने कुछ नहीं बताया बस लूटपाट करते रहे। बहु जितना सामान पहने थी सब छीनकर ले गए साथ में 80 हजार रुपए घर में माजूद थे वह भी ले गई।

पहले भी खाकी पर लगे दाग
वहीं रामकली के बेटे के मुताबिक उसका किसी से कोई लड़ाई झगड़ा नहीं है। ना ही मेरे ऊपर कोई मुकदमा है। फिर भी पुलिस ने यह बर्ताव किया है।

वैसे जिले में पुलिस पर लगे इस तरह के आरोप कोई नई बात नहीं हैं। इससे पहले पनकी थाने के एक दरोगा पर 3 महिलाओं के साथ मारपीट का मामला सामने आया था। उधर इस तरह की घटना के बाद पुलिस के आला अधिकारी इस घटना से इंकार कर रहे हैं। 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!