अराजकतत्वों को संरक्षण देना पुलिसकर्मियों को पड़ा बहुत महंगा

  • अराजकतत्वों को संरक्षण देना पुलिसकर्मियों को पड़ा बहुत महंगा
You Are Here
अराजकतत्वों को संरक्षण देना पुलिसकर्मियों को पड़ा बहुत महंगाअराजकतत्वों को संरक्षण देना पुलिसकर्मियों को पड़ा बहुत महंगाअराजकतत्वों को संरक्षण देना पुलिसकर्मियों को पड़ा बहुत महंगा

महोबा: उत्तर प्रदेश में महोबा के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने अराजकतत्वों को संरक्षण देने के आरोप में आज कुलपहाड़ क्षेत्र में तैनात तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। 

पुलिस उपाधीक्षक नन्द लाल ने यहां बताया कि कमालपुरा गांव के मेले में कल युवतियों के साथ छेड़छाड़ और उपद्रव कर रहे मोटरसाइकिल सवार तीन युवकों को पकड़ कर ग्रामीणों ने घटना की शिकायत पुलिस से की थी। पुलिस कर्मियों ने उनका पक्ष लेते हुए ग्रामीणों के साथ न सिर्फ दुर्वव्यहार किया बल्कि मारपीट भी की थी। इससे नाराज ग्रामीणों ने पूर्व सांसद गंगा चरण राजपूत के नेतृत्व में देर रात तक थाने में धरना भी दिया था। 

उन्होंने बताया कि प्रथम ²ष्टया दोषी पाये जाने पर गौरव सिंह ने तीन पुलिसकर्मियों करण सिंह, साहब सिंह, और शमीम खान को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। निलंबित पुलिसकर्मियों को पुलिस लाइन में आमद कराने को निर्देश दिया है। इस मामले में कमालपुरा की कुसुमरानी की तहरीर पर राजेश यादव और अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही तीनो पुलिसकर्मी भी मुकदमे में आरोपी बनाया गया है। 

UP News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!