मंत्री का महिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोप

  • मंत्री का महिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोप
You Are Here
मंत्री का महिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोपमंत्री का महिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोपमंत्री का महिला अस्पताल में औचक निरीक्षण, डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोप

मिर्जापुरः मिर्जापुर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए भाजपा जिलाध्यक्ष, नगर विधायक रत्नाकर मिश्रा के प्रतिनिधि महिला अस्पताल में औचिक निरीक्षण के लिए पहुंचे। इस दौरान मरीजों की शिकायत पर जब भाजपा नेताओं ने महिला डॉक्टर ममता सिंह से पूछा तो महिला डॉक्टर आगबबूला हो गईं और पूरे अस्पताल व्यवस्था की पोल खोलने लगी। इसके साथ ही महिला डॉक्टर ने अस्पताल के अधिकारियों पर काफी गंभीर आरोप भी लगाए।

समय से पहले जा रही थी डॉक्टर 
दरअसल भाजपा जिलाध्यक्ष बालेंदुमणि त्रिपाठी, नगर विधायक के प्रतिनिधि चंद्रांशु गोयल दोपहर में महिला अस्पताल पहुंचे। महिला अस्पताल के गेट पर ही डॉ. ममता सिंह मिल गईं। उस समय 2 नहीं बजे थे। भाजपा नेताओं ने उनसे बात की तो डॉक्टर ने कहा कि उनके पास मरीज नहीं है, इसलिए घर जा रही हैं। इसके बाद भाजपा नेता ओपीडी की ओर गए। वहां पर तीन से चार मरीज से पूछा गया तो मरीजों ने बताया कि वो डॉ. ममता सिंह का इंतजार कर रहे हैं।

गुस्से में आई महिला डॉक्टर ने CMO पर लगाए गंभीर आरोप
पीछे-पीछे ममता सिंह भाजपा नेताओं के साथ ओपीडी में पहुंची। वहां एक मरीज ने बाहर से महंगी दवा लिखने की पर्ची दी। भाजपा नेताओं ने पर्ची डॉ. ममता सिंह को देकर पूछा तो डॉक्टर ने बताया कि ये उनकी पर्ची नहीं है। इसके बाद डॉक्टर गुस्से में आ गईं और जोर-जोर से चिल्लाते हुए अस्पताल के डॉक्टरों पर दलाली कराने का आरोप लगाया। डॉक्टर ममता सिंह ने कहा कि सीएमओ और सीएमएस से पूछिए जो पैसा लेते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकांश महिला डॉक्टर घर पर प्रैक्टिस करती हैं। आशा और एएनएम उनके लिए दलाली का काम करती हैं।

स्वास्थ्य मंत्री से की जाएगी रिपोर्टः त्रिपाठी
महिला डॉक्टर ममता सिंह द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप पर भाजपा जिलाध्यक्ष बालेंदुमणि त्रिपाठी ने कहा कि महिला डॉक्टर ममता सिंह कार्य में लापरवाही कर समय से पहले घर जा रही थी। इसकी शिकायत शासन में की जाएगी। इसके साथ ही महिला डॉक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्‍टाचार करने का जो भी आरोप लगाया है। उनके लगाए गए आरोपों की जांच के लिए प्रदेश सरकार और स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखा जाएगा।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!