यूपी: शहीद जयद्रथ सिंह को नम आंखो से दी गई अंतिम विदाई

  • यूपी: शहीद जयद्रथ सिंह को नम आंखो से दी गई अंतिम विदाई
You Are Here
यूपी: शहीद जयद्रथ सिंह को नम आंखो से दी गई अंतिम विदाईयूपी: शहीद जयद्रथ सिंह को नम आंखो से दी गई अंतिम विदाईयूपी: शहीद जयद्रथ सिंह को नम आंखो से दी गई अंतिम विदाई

सहरानपुरः जम्मू-कश्मीर के सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की फायरिंग में शहीद हुए जयद्रथ सिंह को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। शहीद का पार्थिव शरीर हेलीकॉप्टर से उनके पैतृक गांव भगवानपुर लाया गया। वहीं शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी। शहीद का पार्शिव शरीर जिस जगह से गुजरा वहां खड़े लोगों ने उन्हें सलाम किया। जयद्रथ की शहादत पर पूरे गांव को नाज़ है। साथ ही शहीद को को अंतिम विदाई देने के लिए पूरा गांव उनके साथ खड़ा है।

बता दें कि शहीद जयद्रथ सिंह सहारनपुर के भगवानपुर गांव में पैदा हुए थे। उनके पिता जसबीर सिंह गांव में ही खेती करते हैं। गांव के सभी लोग जयद्रथ को भोलू कहकर बुलाते थे। जयद्रथ की शादी कैड़ी निवासी ममता के साथ हुई है जो जयपुर में है। राजपूताना राइफल के जवान का तबादला जयपुर हो गया था। हाल ही में 15 दिन पहले जयद्रथ अपनी पत्नी को जयपुर छोड़कर आया था और लगभग 1 माह के बाद उसने जयपुर ही आना था।
 

दरअसल जम्मू-कश्मीर के सुंदरबनी सेक्टर में सीमापर गोलीबारी में सहरानपुर के लाल जयद्रथ सिंह वीरगति को प्राप्त हो गए। इस सूचना के बाद पूरे घर में कोहराम मच गया। गांव वालों को इंतजार है कि शहीद के शव का, जो कि आज यहां आ सकता है। 3 भाइयों में दूसरे नंबर के जयद्रथ की शहादत पर पूरे गांव को नाज़ है।

आलम यह है कि शहीद के पिता जसबीर रो-रो कर दुश्मनों का पता पूछ रहे हैं। शहीद की पत्नी जयपुर में है जो ये खबर सुनकर आज सहारनपुर आ रही है। शहीद का भाई अजय कुमार भी राजपुताना राइफल में है और छुट्टी लेकर घर आया हुआ है। पूरे परिवार में कोहराम सा छाया हुआ है।

गौरतलब है कि करीब 1 हफ्ते के भीतर एलओसी पर पाक सेना की गोलाबारी में सेना के 6 जवान शहीद हो गए थे।
 



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!