नौकरी का झांसा देकर युवती को जिस्मफरोशी के धंधे में चाहा धकेलना और फिर...

  • नौकरी का झांसा देकर युवती को जिस्मफरोशी के धंधे में चाहा धकेलना और फिर...
You Are Here
नौकरी का झांसा देकर युवती को जिस्मफरोशी के धंधे में चाहा धकेलना और फिर...नौकरी का झांसा देकर युवती को जिस्मफरोशी के धंधे में चाहा धकेलना और फिर...नौकरी का झांसा देकर युवती को जिस्मफरोशी के धंधे में चाहा धकेलना और फिर...

वाराणसीः उत्तर प्रदेश में दिलदहला देने वाला एक शर्मनाक मामला सामने आया है, जहां नौकरी की तलाश में वाराणसी आई एक युवती के साथ कुछ ऐसा हुआ जिसे जानकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। वहीं युवती का आरोप है कि वह इंसाफ के लिए थाने में चक्कर लगा रही है, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हो रही।

जानिए पूरा मामला
दरअसल, नौकरी का झांसा देकर युवती को एक पति-पत्‍नी घर ले गए। वहां पति ने अपने एक दोस्‍त के साथ मिलकर उसका रेप किया। इतना ही नहीं युवती को जिस्‍मफरोशी के दलदल में धकेलने की कोशिश भी की गई। वहीं पुलिस का कहना है कि इस संबंध में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस का कहना है कि मुकदमा दर्ज होने के बाद से आरोपी फरार है और पुलिस दावा कर रही है कि बहुत जल्‍द उनकी गिरफ्तारी होगी है।

काम की तलाश में थी युवती
वहीं पीड़िता के मानें तो बीते 1 अक्‍टूबर को वो नौकरी की तलाश में वाराणसी आई थी। दिन भर भटकने के बाद जब उसे काम नहीं मिला तो वो शाम को घर लौटने के लिए बस स्‍टैंड पर बस का इंतजार करने लगी। इसी दौरान वहां कार से महिला निम्मी और उसका पति मनोज जायसवाल आए। मुझे अकेले देख उन्होंने कहा कि बहुत परेशान हो बेटी, क्या बात है। तकलीफ सुनने के बाद उन लोगों ने मुझे काम दिलवाने की वादा किया।

मारपीट के बाद किया रेप
मनोज ने कहा कि तुम्‍हें मेरे दोस्‍त के घर पर खाना बनाने और घर संभालने का काम करना होगा। मैं राजी हो गई तो वो कार से ही मुझे घर लेकर आए। पीड़िता के मुताबिक जहां उसे रखा गया था वहां से लड़के और लड़कियों की अश्‍लील अवाजें आती रहती थीं। 3 अक्‍टूबर को घर पर मनोज का दोस्‍त संदीप आया। उसने मुझे जिस्‍मफरोशी के लिए तैयार होने को कहा। जब मैनें इसका विरोध किया तो उन्होंने मेरे साथ मारपीट की और रात में मनोज और संदीप ने बारी-बारी से मेरा रेप किया। इस दौरान उन्होंने मेरा वीडि‍यो भी बनाया।

इंसाफ के लिए लगा रही थाने के चक्कर 
पीड़िता का कहना है कि 5 अक्‍टूबर आरोपी मनोज और संदीप नशे की हालत में घर पर आए। जिस कारण मैं किसी तरह वहां से भाग निकली। वह तब से थाने के चक्‍कर लगा रही है। 16 अक्‍टूबर को मुकदमा दर्ज हुआ, लेकिन अब तक आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!