यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, बुजुर्ग महिला के साथ सरेआम की बदसलूकी

You Are Here
यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, बुजुर्ग महिला के साथ सरेआम की बदसलूकीयूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, बुजुर्ग महिला के साथ सरेआम की बदसलूकीयूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, बुजुर्ग महिला के साथ सरेआम की बदसलूकी

अमरोहा(नदीम अहमद): उत्तर प्रदेश के अमरोहा में फास्ट्रेक कोर्ट के आदेश पर मकान खाली कराने गई पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। जहां पर मकान खाली कराने के दौरान थाना पुलिस ने 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला को एक जानवर की तरह दूर तक घसीटते हुए बाहर सड़क पर फेंक दिया। पुलिस की यह करतूत कैमरे में कैद हों गई।

दरअसल पूरा मामला थाना गजरौला इलाके का है। जहां के रहने वाले व्यापारी सुधीर सिंघल ने 15 वर्ष पूर्व अपना पुस्तैनी मकान थाना छेत्र के ही मोहल्ला जलालनगर के रहने वाले शौकीन अली को दिया था। जिसका शौकीन न तो किराया देता था और न ही मकान खाली करने की बात करता था। इस बात की शिकायत व्यापारी ने अमरोहा न्यायालय में की जिस आधार पर मकान के कागजात व्यापारी सुधीर सिंघल के नाम देखे जाने के बाद जनपद की फास्ट्रेक कोर्ट सेकंड ने थाना गजरौला पुलिस को मकान कब्जा मुक्त कराने के आदेश दिए थे।

कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस मकान खाली कराने पहुंची। इसी दौरान मकान में मौजूद बुजुर्ग महिला को पुलिस ने विरोध करने पर खदेड़ते हुए बाहर सड़क पर फेंक दिया। तभी एक नन्हा बच्चा अपनी दादी को बचाने के लिए पुलिस से छोड़ने की गुहार करता रहा मगर पुलिस को रहम नहीं आया। पुलिस ने बड़ी ही बेरहमी के साथ बुजुर्ग महिला को घसीटते हुए घर से बाहर निकाल दिया।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!