Pregnant होते ही बुआ बोली- बच्चा मुझे दे दो, मना करने पर किया यह घिनौना काम

You Are Here
Pregnant होते ही बुआ बोली- बच्चा मुझे दे दो, मना करने पर किया यह घिनौना कामPregnant होते ही बुआ बोली- बच्चा मुझे दे दो, मना करने पर किया यह घिनौना कामPregnant होते ही बुआ बोली- बच्चा मुझे दे दो, मना करने पर किया यह घिनौना काम

आगरा: ताजनगरी के थाना शाहगंज क्षेत्र में एक शख्स ने पुलिसकर्मियों पर रिश्वत लेकर बेरहमी से पीटने का आरोप लगाया है। पीड़ित ने इस मामले की शिकायत एस.पी. सिटी से की है। उन्होंने पुलिस को जांच के आदेश दिए हैं।

थाना शाहगंज निवासी नीरज शर्मा की शादी 22 नवम्बर 2015 को हुई थी। कुछ महीने बाद उसकी पत्नी प्रैग्नैंट हुई। नीरज ने बताया कि बुआ पुष्पा देवी और फूफा वीजेन्द्र शर्मा के कोई औलाद नहीं है। बुआ ने पिता से मेरे होने वाले बच्चे को गोद लेने की इच्छा जाहिर की, लेकिन मैंने और मेरी पत्नी ने इस पर बात करने से इनकार कर दिया।

एक दिन मेरी पत्नी का बुआ से विवाद हो गया और उन्होंने मेरी पत्नी से मारपीट की, जिससे उसका गर्भपात हो गया। घर की बात घर में रहे, इसके लिए घटना को उजागर नहीं किया गया। मेरी पत्नी फिर से प्रैग्नैंट हुई। इसके बाद बुआ ने फिर से बच्चा गोद लेने की बात कही। इस बात पर जब मैंने फिर से मना कर दिया तो गुस्सा होकर उन्होंने देख लेने की धमकी दी।

आरोप है कि बीती 27 मई को सुबह करीब 8 बजे थाना शाहगंज के 2 सिपाही, थाना टूंडला के सब इंस्पैक्टर ओमपाल सिंह और अन्य 4 पुलिस कर्मी नीरज के घर पहुंचे। उन्होंने नीरज को सोते हुए बिस्तर से उठाया और मारना-पीटना शुरू कर दिया। बचाव करने आए पिता के साथ भी हाथापाई और गाली-गलौच किया।

इतना ही नहीं घर से घसीटते हुए बाहर सड़क तक ले गए और कार में जबरन ठूंस दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यहां पुलिसकर्मियों ने नीरज के साथ अभद्र भाषा के साथ-साथ मारपीट फिर से शुरू कर दी। इस गाड़ी में नीरज के फूफा वीरेन्द्र शर्मा पहले से ही मौजूद थे।



UP News की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!