Subscribe Now!

‘गोरखपुर महोत्सव’ शुरु होने से पहले ही थीम सॉन्ग पर लगा कॉपीराइट का आरोप

You Are Here
‘गोरखपुर महोत्सव’ शुरु होने से पहले ही थीम सॉन्ग पर लगा कॉपीराइट का आरोप‘गोरखपुर महोत्सव’ शुरु होने से पहले ही थीम सॉन्ग पर लगा कॉपीराइट का आरोप‘गोरखपुर महोत्सव’ शुरु होने से पहले ही थीम सॉन्ग पर लगा कॉपीराइट का आरोप

गोरखपुर: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में 3 दिवसीय ‘गोरखपुर महोत्सव’ का आयोजन आज से होने जा रहा है। बता दें कि राज्यपाल राम नाईक दोपहर 12 बजे महोत्सव का उद्घाटन करेंगे, लेकिन महोत्सव शुरु होने से पहले ही विवादों में घिर गया है।
PunjabKesari
दरअसल ‘गोरखपुर महोत्सव’ के थीम सॉन्ग पर कॉपीराइट का आरोप लगा है। इस गाने को गाजीपुर के प्रणब सिंह ने गाया है, जबकि गीत विमल बावरा ने लिखा है। आरोप है कि ये सॉन्ग ईशा फाउंडेशन की ओर से महाशिवरात्रि के मौके पर आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में गायक कैलाश खेर ने पीएम मोदी के सामने ‘शंभू के भष्मांग की अंगड़ाईयों में हर कणों में रम रहे हैं नाथ-योगी’ गाना गाया था।
PunjabKesari
वहीं प्रणब ने अपनी सफाई में कहा कि कोई धुन कॉपी नहीं की गई है। यह एक पारंपरिक गीत है। राग को कोई कंपोज करता है, न ही किसी का कॉपीराइट होता है। राग की रचनाओं का पुराना इतिहास है। एक राग पर हजारों गीत बनते हैं। उन्होंने कहा कि उल्टा कैलाश खेर ने इस भोजपुरी धुन को चोरी किया है।
PunjabKesari
गौरतलब है कि सैफई महोत्सव की तर्ज पर ही गोरखपुर महोत्सव में बॉलीवुड और भोजपुरी नाइट का तड़का भी लगेगा। 11 जनवरी की शाम में बॉलीवुड सिंगर शंकर महादेवन की प्रस्तुति होगी। बैले डांसर सुरभि सिंह अपनी डांस परफार्मेंस देगी 12 जनवरी की शाम रवि किशन, अनूप जलोटा और मालिनी अवस्थी के नाम होगी। वहीं  13 जनवरी की शाम ललित पंडित, सिंगर शान, भूमि त्रिवेदी, अनुराधा पौडवाल, जिमी मोसेस की प्रस्तुति होगी। 



UP SAMACHAR की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन