गोमती रिवर फ्रंट घोटाला: चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों पर गिरी गाज, FIR दर्ज

  • गोमती रिवर फ्रंट घोटाला: चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों पर गिरी गाज, FIR दर्ज
You Are Here
गोमती रिवर फ्रंट घोटाला: चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों पर गिरी गाज, FIR दर्जगोमती रिवर फ्रंट घोटाला: चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों पर गिरी गाज, FIR दर्जगोमती रिवर फ्रंट घोटाला: चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों पर गिरी गाज, FIR दर्ज

लखनऊः योगी सरकार इन दिनों पूर्व अखिलेश सरकार के काल में हुए घोटालों पर लगातार शिकंजा कस रही है। खनन घोटाले के बाद अब योगी सरकार अखिलेश सरकार के एक और बड़े घोटाले पर कानूनी शिकंजा कसने जा रही है। सीबीआई जांच के लिए पहला कदम उठाते हुए सिंचाई विभाग की तरफ से इस मामले में पहली एफआईआर गोमतीनगर थाने में दर्ज कराई गई है। दर्ज एफआईआर में सिंचाई विभाग के तत्कालीन चीफ इंजीनियर समेत 8 अफसरों के नाम शामिल है।

40 फीसदी हिस्सा घोटाले की भेंट चढ़ा
बता दें सपा सरकार में साल 2015 में गोमती किनारे सौंदर्यीकरण के नाम से 1513 करोड़ की रिवर फ्रंट योजना शुरू हुई। अफसरों ने योजना को समय से पूरा नहीं किया। कहा जा रहा है कि योजना का 60 फीसदी काम कर बाकी 40 फीसदी हिस्सा घोटाले की भेंट चढ़ गया।

इन अफसरों के नाम है शामिल
एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ने बताया कि सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता की तरफ से एक एफआईआर दर्ज कराई गई है। जिसमें 8 अफसरों को नामजद किया गया है। क्राइम नंबर 831/17 पर दर्ज इस एफआईआर में तत्कालीन चीफ इंजीनियर गुलेश चंद्र, एस.एन.शर्मा, काजिम अली का नाम है। वहीं अधिशासी अभियंता में शिव मंगल यादव, अखिल रमन, कमलेश्वर सिंह, रूप सिंह यादव और सुरेंद्र यादव के नाम शामिल किए गए हैं।

बता दें, नामजद हुए 8 अफसरों में चार अफसर गुलेश चंद्रा, शिवमंगल यादव, रूप सिंह यादव और अखिल रमन वर्तमान में रिटायर हो चुके हैं। फिलहाल एफआईआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने दस्तावेजों के आधार पर कार्रवाई करने का मन बना लिया है।

UP POLITICAL NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!