जमीन बेचने के बाद भी नहीं उतरा कर्ज, किसान ने पत्नी व बेटी संग दी जान

You Are Here
जमीन बेचने के बाद भी नहीं उतरा कर्ज, किसान ने पत्नी व बेटी संग दी जानजमीन बेचने के बाद भी नहीं उतरा कर्ज, किसान ने पत्नी व बेटी संग दी जानजमीन बेचने के बाद भी नहीं उतरा कर्ज, किसान ने पत्नी व बेटी संग दी जान

सहारनपुर: थाना चिलकाना के ग्राम अहाडी में कर्ज के बोझ तले दबे एक किसान ने अपनी पत्नी और पुत्री के साथ जहर का सेवन कर जीवनलीला समाप्त कर ली। मृतक के परिजनों ने पुलिस को सूचना दिए बिना ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया।  ग्राम अहाडी-अब्दुल्लापुर का रहने वाला किसान रतन लाल सैनी उम्र 70 वर्ष कई वर्षों से कर्ज के बोझ तले था। इन हालात में वह अपनी 25 वर्षीय बेटी की शादी भी नहीं कर पा रहा था।

किसान के पुत्र धनप्रकाश सैनी ने बताया उसके पिता पर बैंक, सोसायटी तथा साहूकारों का लाखों रुपए का कर्ज था जिसे वह अपनी गरीबी के कारण नहीं चुका पा रहा था। अपनी जवान बेटी जमना की शादी भी नहीं कर पा रहा था। कर्ज के दबाव और बेटी के हाथ पीले न होने की वजह से किसान का परिवार काफी मानसिक तनाव में आ गया था। इससे आहत देर रात्रि तीनों ने मिलकर रतन सिंह उसकी पत्नी प्रकाशी व पुत्री कु. जमना ने जहर का सेवन कर आत्महत्या कर ली।

देर रात्रि तीनों को उल्टी लगने पर उनके पास सो रहे बेटे की आंख खुली तो वह उन्हें गंभीर हालत में उठाकर चिकित्सकों के पास ले गया। जहां डाक्टरो ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों ने सुबह पुलिस को सूचना दिए बिना तीनों को अंतिम संस्कार कर दिया। सुबह ही घटना की जानकारी मिलने पर थाना अध्यक्ष चिलकाना व पुलिस क्षेत्राधिकारी सदर ब्रिजेश कुमार मय पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचे व घटना की बाबत विस्तार से जानकारी ली।

UP Hindi News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You