जहरीली शराब का कारोबार रोकने में नाकाम योगी सरकार, पीने से 41 लोगों की मौत

  • जहरीली शराब का कारोबार रोकने में नाकाम योगी सरकार, पीने से 41 लोगों की मौत
You Are Here
जहरीली शराब का कारोबार रोकने में नाकाम योगी सरकार, पीने से 41 लोगों की मौतजहरीली शराब का कारोबार रोकने में नाकाम योगी सरकार, पीने से 41 लोगों की मौतजहरीली शराब का कारोबार रोकने में नाकाम योगी सरकार, पीने से 41 लोगों की मौत

लखनऊ: यूपी में फैल रहे जहरीली शराब के कारोबार को रोकने में योगी सरकार विफल साबित हो रही है। प्रदेश में जनवरी 2016 से जून 2017 के बीच जहरीली शराब पीने से 41 लोगों की मौत हुई है। मृतकों में सबसे अधिक 33 लोग एटा जिले के थे जबकि शेष 8 फर्रुखाबाद जिले के थे।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद 22 मई से 7 जून के बीच अवैध शराब के संबंध में 15,544 प्राथमिकियां दर्ज की गईं और 930 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सिंह ने बताया कि आबकारी विभाग ने इस महीने (जुलाई) 8 तारीख से 14 तारीख के बीच विशेष अभियान चलाया। कुल 2676 प्राथमिकियां दर्ज की गईं और 55 लोगों को गिरफ्तार किया गया।  अपना दल (सोनेलाल) के आरके वर्मा ने प्रश्नकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया था।

मंत्री ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राज्य सरकार ने शराब की 8,500 दुकानें स्थानांतरित कीं, जिससे विभाग को लगभग 5,500 करोड़ रुपए राजस्व का नुकसान हुआ। भाजपा के अशोक चंदेल ने आरोप लगाया कि विभाग के संरक्षण की वजह से हमीरपुर में भाजपा कार्यालय के निकट स्थित शराब की दुकान स्थानांतरित नहीं की जा सकी। चंदेल ने कहा कि उन्होंने जिलाधिकारी और जिला आबकारी अधिकारियों को सूचित किया लेकिन दुकान स्थानांतरित नहीं हो सकी। मंत्री ने हालांकि आश्वासन दिया कि दुकान को स्थानांतरित करने के आदेश दिए जा चुके हैं।



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!