Subscribe Now!

इस जिला चिकित्सालय में हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर, वजह कर देगी दंग

You Are Here
इस जिला चिकित्सालय में हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर, वजह कर देगी दंगइस जिला चिकित्सालय में हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर, वजह कर देगी दंगइस जिला चिकित्सालय में हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर, वजह कर देगी दंग

हरदोई(आशीष कुमार): उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में बने जिला चिकित्सालय में हर कोई साए में जीने को मजबूर है। फिर चाहें वो मासूम बच्चे हो, तीमारदार हो या फिर चिकित्सक। यहां हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर है। ये सुनने में भले ही आपको अटपटा लगे, लेकिन यहां की यही हकीकत है। इसकी वजह प्रशासनिक लापरवाही है।
PunjabKesari
दरअसल मामला हरदोई के जिला अस्पताल के सामने बने बाल वार्ड और पोषण पुनर्वास केंद्र का है। जहां हर दम मधुमक्खियों का खौफनाक साया बना रहता है। ऐसे में यहां हर कोई भय के माहौल में जीता है। ये मधुमक्खियां इन वार्ड के आसपास दिन भर उड़ती और घूमती रहती हैं। जो कई बार लोगों पर हमला बोलकर उन्हें अस्पताल तक पहुंचा चुकी है। ऐसे में यहां इलाज कराने आने वाले बच्चे हो तीमारदार हो या फिर बच्चों का इलाज करने वाले चिकित्सक। हर किसी को इनका डर सताता रहता है कि कहीं मधुमक्खियां उन्हें काट न लें। यही वजह है कि यहां हर कोई खौफ के साए में जीने को मजबूर है।

PunjabKesari
वहीं मधुमक्खियों का आशियाना बनी जिला चिकित्सालय की इस पानी की टंकी से पूरे जिला अस्पताल को पानी की सप्लाई की जाती है। ऐसा नहीं कि स्वास्थ्य विभाग को इसकी चिंता नहीं कई बार मधुमक्खियों को यहां से हटाने के लिए मुख्यचिकित्सा अधीक्षक के स्तर से वन विभाग, जल निगम और नगर पालिका को पत्र लिखा जा चुका है, लेकिन इसे प्रशासनिक लापरवाही कहें या अक्षमता। फिलहाल अभी तक किसी भी जिम्मेदार विभाग की ओर से इन मधुमक्खियों को यहां से हटाने के लिए कोई ध्यान नहीं दिया गया है।



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन