Subscribe Now!

मौनी अमावस्या के मौके पर संगम नगरी में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

You Are Here
मौनी अमावस्या के मौके पर संगम नगरी में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकीमौनी अमावस्या के मौके पर संगम नगरी में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकीमौनी अमावस्या के मौके पर संगम नगरी में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

इलाहाबाद: माघ मास के प्रमुख स्नान पर्व मौनी अमावस्या के अवसर पर तड़के से ही संगम में डुबकी लगाने का सिलसिला शुरू हो गया है। आखाड़े के संतों के साथ ही लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और सरस्वती की त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य कमाया।
PunjabKesari
अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी, आनंद गिरी समेत कई अखाड़ों के संतों ने भी संगम में आस्था की डुबकी लगाई। मौनी अमावस्या पर संगम में स्नान व दान पुण्य का खास महत्व है। मौन रहकर स्नान कर दान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। स्नान के बाद तर्पण से पूवर्जों को शांति मिलती है।

PunjabKesari
स्नान का मुहूर्त सुबह 4.52 मिनट से बुधवार सुबह 7.04 बजे तक रहेगा। मंगलवार का दिन और अमावस्या का संयोग होने से मणिकांचन योग बन रहा है। स्नान का सर्वोत्तम समय सुबह 6.20 बजे से 7.20 बजे तक है।
PunjabKesari
प्रशासन के मुताबिक आज के दिन करीब 2 करोड़ श्रद्धालुओं के संगम में स्नान की उम्मीद है। मौनी अमावस्या के पर्व को लेकर प्रशासन ने सुरक्षा की व्यापक तैयारी भी की है। 



UP SAMACHAR की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन