योगी सरकार के फरमान के चलते अब जेल में मोबाइल नहीं चला पाएंगे ये बाहुबली

  • योगी सरकार के फरमान के चलते अब जेल में मोबाइल नहीं चला पाएंगे ये बाहुबली
You Are Here
योगी सरकार के फरमान के चलते अब जेल में मोबाइल नहीं चला पाएंगे ये बाहुबलीयोगी सरकार के फरमान के चलते अब जेल में मोबाइल नहीं चला पाएंगे ये बाहुबलीयोगी सरकार के फरमान के चलते अब जेल में मोबाइल नहीं चला पाएंगे ये बाहुबली

मिर्जापुरः जेलों से गिरोह का संचालन करने वाले माफियाओं के लिए बुरी खबर है। जेलों में बिजली कटने के बाद माफिया जैमर बंद होने का लाभ उठा कर मोबाइल से संपर्क साधते थे पर शासन ने इसे ध्यान में रखते हुए प्रदेश की चुनिंदा 17 जेलों में सोलर पावर बैकअप के लिए लगभग 11 करोड़ की धनराशि मंजूर की है।

योगी सरकार के शासन में प्रस्ताव हुआ पारित
इसमें बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की जेल बांदा, बाहुबली अतीक अहमद की देवरिया और मुन्ना बजरंगी की जेल झांसी भी शामिल हैं। खास यह भी कि 3 साल पहले ही इसका प्रस्ताव दिया गया था, लेकिन शासन स्तर पर लंबित था। योगी सरकार ने पूरी धनराशि एकमुश्त स्वीकृत की है और जल्द से जल्द काम करने के आदेश दिए हैं।

इन जेलों में सोलर पैनल का धन हुआ है मंजूर
सरकार ने जिला कारागार प्रतापगढ़, गोरखपुर, एटा, पीलीभीत, मैनपुरी, आजमगढ़, बलिया, लखनऊ, बरेली, फिरोजाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़, गाजियाबाद और केन्द्रीय कारागार नैनी में सोलर पैनल लगाने की खातिर धन की मंजूरी दी है। जैमरों की संख्या के मुताबिक ढाई से 4 किलोवाट क्षमता वाले सोलर पैनल लगाए जाने हैं। काम की जिम्मेदारी भारत सरकार के उपक्रम पीईसी लिमिटेड को सौंपी गई है जबकि उपकरणों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी महानिदेशक कारागार की रहेगी। धन स्वीकृत करने के साथ स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि 30 सिंतबर से पहले काम को पूरा कराना आवश्यक है।

जेल में अपराधियों की शिफ्टिंग को लेकर चल रहा विवाद 
प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम मोदी से लेकर अन्य भाजपा नेताओं ने जेलों से समानांतर सरकार चलाने के आरोप लगाए थे। सूबे में सरकार बनने के बाद कुख्यात अपराधियों की दूसरी जेलों में शिफ्टिंग की गई थी, लेकिन बाद में सुप्रीमकोर्ट के दखल के बाद मुन्ना बजरंगी और सुभाष ठाकुर को दोबारा उनकी जेल में भेजना पड़ा। जेल से कोई खेल न हो इसे ध्यान में रखते हुए जैमर को लगातार चालू रखने की खातिर सोलर पैनल लगाने का धन मंजूर किया गया है।

UP POLITICAL NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You