योगी राज में नहीं रूक रहा भ्रष्टाचार, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ली जा रही घूस

  • योगी राज में नहीं रूक रहा भ्रष्टाचार, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ली जा रही घूस
You Are Here
योगी राज में नहीं रूक रहा भ्रष्टाचार, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ली जा रही घूसयोगी राज में नहीं रूक रहा भ्रष्टाचार, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ली जा रही घूसयोगी राज में नहीं रूक रहा भ्रष्टाचार, रजिस्ट्रेशन के नाम पर ली जा रही घूस

मुरादाबादः प्रदेश के मुखिया योगी अदित्यनाथ भले ही भ्रष्टाचार खत्म करने का प्रयास कर रहे हो लेकिन बावजूद इसके कुछ अधिकारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। मुरादाबाद में पिछले 4 महीनों में 2 चौंकी इचांर्ज को एंटीकरप्शन की टीम ने रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है, लेकिन फिर भी अधिकारी इन सब से सबक नहीं ले रहे । ताजे मामले अनुसार एंटीकरप्शन टीम ने सोसाइटी रजिस्ट्री कार्यालय से क्लर्क को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है।

क्या है पूरा मामला 
दरअसल मामला नागफनी थाना क्षेत्र का है। जहां इकबाल बिल्डिंग में फर्म सोसाइटी एंड चिट्स के रजिस्ट्रेशन का ऑफिस है। डीके वर्मा पिछले 1 साल से यहां क्लर्क के पद पर कार्यरत है। मूंढापांडे गणेशपुर घाट निवासी अधिवक्ता ओमवीर सिंह की शिकायत पर बीते दिन को एंटी करप्शन की टीम ने फर्म सोसाइटी एंड चिट्स के रजिस्ट्रेशन के कार्यालय में ही उसे 5 हजार रुपए की रिश्वते लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद एंटी करप्शन के अफसर उसको सिविल लाइंस थाने ले आए।

यहां बिना पैसों के कोई काम नहीं होता
ओमवीर का आरोप है कि उसने अमित वेलफेयर सोसाइटी के नाम से 15 दिन पहले रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया था। उसकी रजिस्ट्रार ऑफिस के क्लर्क डीके वर्मा से मुलाकात हुई। क्लर्क ने पंजीकरण नम्बर देने के लिए 10 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की। अधिवक्ता ने पैसे देने से इन्कार कर दिया, जिस पर क्लर्क ने उससे साफ-साफ कह दिया कि यहां बिना पैसों के कोई काम नहीं होता है। 

5 हजार रुपए में की बात पक्की
अधिवक्ता ने क्लर्क से पैसों के लेने-देन की बातचीत का सिलसिला शुरू किया। अधिवक्ता और क्लर्क के बीच 5 हजार रुपए में बात बन गई। वहीं ओमवीर ने अधिवक्ता एंटी करप्शन के इंस्पेक्टर अमर सिंह से मिल कर पूरी बात बताई। 

आरोपी क्लर्क को पकड़ा रगें हाथों
अमर सिंह के नेतृत्व में एंटी करप्शन की टीम ने इकबाल बिल्डिंग में फर्म, सोसाइटी एंड चिट्स के रजिस्ट्रेशन ऑफिस में ही आरोपी क्लर्क को रंगे हाथों पकड़ लिया। एंटीकरप्शन के अफसर आरोपी को पूछताछ के लिए सिविल लाइन थाने लेकर पहुंचे। मामला नागफनी का होने पर अफसरों ने नागफनी पुलिस को तहरीर देकर आरोपी क्लर्क के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।



UP HINDI NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!