रात को निकला था घर से, अगली सुबह गांव के बाहर इस हालत में मिला शव

You Are Here
रात को निकला था घर से, अगली सुबह गांव के बाहर इस हालत में मिला शवरात को निकला था घर से, अगली सुबह गांव के बाहर इस हालत में मिला शवरात को निकला था घर से, अगली सुबह गांव के बाहर इस हालत में मिला शव

लखनऊ: राजधानी के ग्रामीण थाना निगोहां के भगवानपुर गांव में रहने वाले कमिश्नर के सेवानिवृत्त अर्दली सत्यनारायण की हत्या उनकी ही बहू ने प्रेमी के साथ मिलकर कर दी। वह रविवार रात को घर से निकले थे लेकिन वापस नहीं लौटे।सोमवार सुबह उनका शव गांव के बाहर खेत में पड़ा मिला। उनके शरीर और सिर पर चोट के निशान थे। पुलिस ने 24 घंटे के अंदर मामले का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि आरोपियों से पूछताछ कर अन्य जानकारी जुटाई जा रही है।
                 PunjabKesari
निगोहां के भगवानपुर गांव निवासी सत्यनारायण (61) लखनऊ के कमिश्नर अर्दली थे। वह करीब एक साल पहले ही सेवानिवृत्त हुए थे जिसके बाद से वह गांव में रहने लगे थे। परिजनों ने बताया कि रविवार देर शाम करीब साढ़े 7 बजे सत्यनारायण कुछ देर बाद लौटने की बात कहकर घर से निकले थे। देर रात तक जब वह वापस नहीं लौटे तो उनकी खोजबीन शुरू की गई लेकिन वह नहीं मिले। परिजनों ने पुलिस से मामले की शिकायत की।
                 PunjabKesari
उधर सोमवार सुबह ग्रामीणों ने सत्यनारायण का शव गांव के बाहर खेत में पड़ा देखा। परिजनों को इसकी जानकारी देते हुए पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव को कब्जे में लिया। पुलिस का कहना है कि मामले की पड़ताल की गई और पूछताछ से पता चला कि मृतक की बहू का आए दिन सत्यनारायण से विवाद होता था। जब उनकी बहू को हिरासत में लिया गया तो उसने पुलिस के आगे अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने महिला और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया।
                 PunjabKesari
रोक-टोक के चलते उतारा मौत के घाट
आरोपी महिला ने बताया कि उसके ससुर सत्यनारायण रिटायर होने के बाद घर पर ही रहते थे। वह रोज टोकाटाकी करते थे। उन्हें इस बात का शक हो गया था कि उससे कोई मिलने आता है। वह उसके प्रेमी से मिलने से मना भी करते थे। लिहाजा उसने प्रेमी के साथ मिलकर ससुर को ठिकाने लगाने की योजना बनाई थी और रविवार रात मौका पाकर उनकी हत्या कर दी।
                 PunjabKesari
ग्रामीणों ने की थी मुखबिरी
पुलिस को सत्यनारायण की हत्या का खुलासा करने में 24 घंटे का भी समय नहीं लगा। वह इसलिए कि ग्रामीणों ने पुलिस के लिए सटीक मुखबिरी की थी। पुलिस का कहना है कि ग्रामीणों से उन्हें इस बात की जानकारी मिली थी कि सत्यनारायण की बहू का गांव में रहने वाले एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा है। युवक ने कई बार बातों-बातों में अपने साथियों के साथ सत्यनारायण को ठिकाने लगाने की बात भी कही थी। इस बात पर पुलिस ने सबसे पहले मृतक की बहू को हिरासत में लिया तो वह पुलिस के सामने झूठ नहीं बोल सकी और सारी बात कबूल कर ली।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!