नवाबों का शहर लखनऊ हुआ वैजिटेरियन, सभी मटन शॉप्स हुईं अवैध

  • नवाबों का शहर लखनऊ हुआ वैजिटेरियन, सभी मटन शॉप्स हुईं अवैध
You Are Here
नवाबों का शहर लखनऊ हुआ वैजिटेरियन, सभी मटन शॉप्स हुईं अवैधनवाबों का शहर लखनऊ हुआ वैजिटेरियन, सभी मटन शॉप्स हुईं अवैधनवाबों का शहर लखनऊ हुआ वैजिटेरियन, सभी मटन शॉप्स हुईं अवैध

लखनऊ: योगी सरकार की अवैध बूचड़खानों पर की गई कार्रवाई से लखनऊ के फेमस बीफ वाले टुंडे कबाब ने मटन और चिकन कबाब बेचना शुरू किया था, लेकिन जल्द ही अब नॉनवैज के शौकीन लोगों को मटन कबाब से भी हाथ धोना पड़ेगा।

बिरयानी और कबाब के लिए फेमस नवाबों का शहर अब पूरी तरह से वैजिटेरियन होने जा रहा है। दरअसल अवैध बूचड़खानों पर की गई कार्रवाई से बीफ तो बंद हो गया, लेकिन मटन और चिकन से नॉनवैज के शौकीनों और गोश्त कारोबार से जुड़े लोगों का काम चल रहा था, परंतु अब राजधानी की सभी मटन शॉप बंद होने जा रही हैं, क्योंकि नगर निगम ने किसी भी शॉप के लाइसैंस का नवीनीकरण नहीं किया है, लिहाजा राजधानी की सभी शॉप अब अवैध हैं और उन्हें बंद करना होगा।

लखनऊ में करीब 600 मटन शॉप्स हैं, जिनमें से 147 दुकानों के पास 31 मार्च तक मटन बेचने का लाइसैंस था। इसके अलावा अन्य दुकानों के लाइसैंस या तो पहले ही खत्म हो चुके हैं या फिर कइयों ने सालों से अप्लाई ही नहीं किया है। नगर निगम ने 147 दुकानों, जिनका लाइसैंस 31 मार्च को खत्म हो रहा था, को 15 दिन की मौहल्लत दी थी, लेकिन उनका भी लाइसैंस अब 15 अप्रैल को समाप्त हो गया। अब नगर निगम का कहना है कि वह इन दुकानों को नया लाइसैंस जारी नहीं करेगी। नगर निगम के इस फैसले के बाद से गोश्त व्यापारियों के सामने नया संकट उत्पन्न हो गया है।

लखनऊ नगर निगम के कमिश्नर उदयराज सिंह ने बताया कि पहले हमारी कोशिश होगी कि सभी गोश्त दुकानों को बंद किया जाए, क्योंकि उनके पास अब मीट बेचने का लाइसैंस नहीं है। दूसरी बात यह है कि हम तब तक किसी का लाइसैंस रिन्यू नहीं करेंगे जब तक राज्य सरकार से इस बाबत दिशा-निर्देश नहीं प्राप्त होते, अगले दिशा-निर्देश आने तक किसी भी दुकान में मीट की बिक्री नहीं होगी। हमने पुलिस को भी ऐसी दुकानों की चैकिंग के लिए लगाया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You