सरकारी जमीन कब्जाने को लेकर 2 समुदाय में खूनी संघर्ष, एक की मौत

  • सरकारी जमीन कब्जाने को लेकर 2 समुदाय में खूनी संघर्ष, एक की मौत
You Are Here
सरकारी जमीन कब्जाने को लेकर 2 समुदाय में खूनी संघर्ष, एक की मौतसरकारी जमीन कब्जाने को लेकर 2 समुदाय में खूनी संघर्ष, एक की मौतसरकारी जमीन कब्जाने को लेकर 2 समुदाय में खूनी संघर्ष, एक की मौत

बरेलीः भले ही अवैध रुप से जमीन कब्जा करने वालों के खिलाफ योगी सरकार ने एंटी भू-माफिया टॉस्क फोर्स का गठन कर दिया हो। बावजूद इसके भू-माफिया पर इसका कोई खास असर नहीं पड़ रहा है। आलम यह है कि रामपुर में सरकारी जमीन कब्जाने के चक्कर में खूनी संघर्ष हो गया, जिसमें एक युवक की मौत हो गई और कई लोगों की हालत गंभीर है।

वहीं जिले के एक गांव में हुए इन सनीसनीखेज वारदात में 2 लोग घायल हो गए। जिसकी हालत नाजुक बनी हुई है। घटना के बाद से पूरे गांव में तनाव का महौल है। पुलिस अधीक्षक और अपर पुलिस अधीक्षक सहित तमाम अधिकारी और पुलिस मौके पर मौजूद हैं।

जानकारी के अनुसार थाना मिलक के गंगापुर शर्की गांव की प्रधान सोनी पाण्डे उनके पति संजीव पाण्डे का घोसीपुरा गांव के नन्ने उर्फ मुखिया से ग्राम समाज की ज़मीन के कब्जे को लेकर विवाद चल रहा था। यह गांव जिला बरेली और जिला रामपुर के बॉर्डर के गांव हैं। घोसीपुरा गांव गंगा नदी के उस पार है और गंगापुर शर्की नदी के दूसरी तरफ दोनों गावों के बीच में नदी किनारे ग्राम समाज की 4 से 5 एकड़ जमीन है। उस जमीन पर हर साल ये दोनों समुदाए के लोग अपना-अपना कब्जा जताते हैं।

इसके पहले भी हो चुका है संघर्ष
जमीन को लेकर दोनों पक्षों में इसके पहले भी कई बार संघर्ष हो चुका है। यहां के लोगों में यह माना जाता है कि जिस की लाठी में दम होता वही उस साल उस जमीन पर अपना कब्जा कर उरद की खेती का काम करता है। इस बार भी उस जमीन पर दूसरे समुदाय के उरद लगे हुए थे। जिसपर प्रधानपति संजीव पाण्डे कार, ट्रैक्टर और बाइक से 15-20 लोगों को लेकर ग्राम समाज की ज़मीन पर कब्जे के लिए गए थे।
वहीं दूसरे समुदाय के लोगों को इसकी भनक पहले ही लग गई थी और वे लोग पहले से तमंचे और बंदूक लेकर 10-12 लोग बैठ गए। प्रधान पति जैसे ही जमीन पर अपने साथियों के साथ पहुंचा, वे उन पर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे। यहां तक की उनकी कार ट्रैक्टर और बाइक भी क्षतिग्रस्त कर दी और भाग गए।

प्रधानपति की मौत
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को बरेली के सिरोली के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जिस में प्रधान पति संजीव पाण्डे की शाम मौत हो गई। मृतक संजीव पण्डे के बाकी के तीन भाई राजीव पाण्डे, अखिलेश पाण्डे, तारा चन्द पाण्डे इनकी हालत भी अभी नाज़ुक बनी हुई है। दो समुदाय के विवाद को देखते हुए पुलिस अधीक्षक विपिन टाडा और अपर पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह सहित सभी सी ओ और पुलिस ने गांव में डेरा डाला और गांव में कोई तनाव न हो इस को देखते हुए पीएसी भी तैनात कर दी गई है।

जांच में जुटी पुलिस
पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों से पूछताछ कर घटना की जानकारी जुटा रही है। देर रात तक सभी अधिकारी गांव में मौजूद रहे। पुलिस अधीक्षक विपिन टाडा ने बताया के भूमि विवाद को लेकर दो पक्षो में झगड़ा हो गया है जिस में मारपीट और फायरिंग हुई है। जिसमें एक की मौत हो गयी और तीन व्यक्ति घायल हैं। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। दो समुदायों का मामला है इस लिए फोर्स तैनात है। 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!