BHU छेड़छाड़ मामला: क्या यही है PM मोदी का ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान

You Are Here
BHU छेड़छाड़ मामला: क्या यही है PM मोदी का ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियानBHU छेड़छाड़ मामला: क्या यही है PM मोदी का ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियानBHU छेड़छाड़ मामला: क्या यही है PM मोदी का ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र बनारस में स्थित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में छात्राएं बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है। बीएचयू में छेड़खानी के खिलाफ छात्राओं के धरना-प्रदर्शन के दौरान जहां हिंसक घटनाएं हुईं वहीं छात्राओं के ऊपर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। न्याय मांग रही छात्रों पर लाठीचार्ज की  चहुओर निंदा हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मामले पर अभी तक चुप्पी साधे हुए हैं। जिस दिन मोदी वाराणसी में उद्धाटन समारोह में शामिल हुए थे उसी दिन दूसरी तरफ लड़कियों पर कहर ढाया जा रहा था।
                 PunjabKesari
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लड़कियों की सुरक्षा और उनकी पढ़ाई के लिए एक बेहतरीन योजना की शुरुआत की थी, जिसका नाम ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा देने वाली सरकार के मंत्री बेटियों पर लाठीचार्ज को लेकर मौन क्यूं है। इस मामले में केंद्र और राज्य दोनों की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। पीएम ने कहा था कि बहुत सारे क्षेत्रों में बेटियों को लड़के की आस में सूली चढ़ाया जा रहा है जोकि बहुत ही शर्म की बात है। उन्होंने कहा था कि इसलिए ही यह योजना लाई गई है, ताकि लिंग भेदभाव रुके और लड़कियों की जान बच सके। लेकिन एेसा कुछ भी होता दिखाई नहीं दे रहा है।
                 PunjabKesari
क्या था पूरा मामला?

विश्वविद्यालय की एक छात्रा ने बताया कि गुरुवार शाम करीब 6 बजे बाइक सवार 3 युवाओं ने उनकी दोस्त को छेड़ा और कुर्ते के अंदर हाथ डालने की कोशिश की। जब आरोपियों के खिलाफ शिकायत की तो उलटे पीड़िता से ही सवाल पूछा गया और उस पर सवाल उठाए गए। पीड़िता की पहचान फाइन आर्ट्स प्रथम वर्ष की छात्रा के रूप में की गई है। घटना के बाद छात्र-छात्राओं ने प्रशासन के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
                 PunjabKesari
देखकर हस्तमैथुन करते हैं लड़के

वहीं छात्राओं ने मामले में लिखित शिकायत भी की है। चीफ प्रोटेक्टर को लिखे पत्र में कहा गया है, ‘छात्राओं को आए दिन अनेक सुरक्षा संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अंतर्राष्ट्रीय छात्राओं को भी ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लड़के छात्रावास के बाहर आकर आपत्तिजनक हरकतें करते हैं। वो हस्तमैथुन करते हैं। पत्थर फेंकते हैं। छात्राओं के खिलाफ आपत्तिनजक शब्द बोलते हुए निकलते हैं।
                 PunjabKesari
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने किया ये सवाल

वहीं इस मामले में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सवाल किया है कि क्या ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ केवल एक नारा है?’ उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि मोदी जी और योगी जी अगर थोड़ी भी शर्म है तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करो और छात्राओं से सार्वजनिक माफी मांगो। हम हिन्दू तो नवरात्रि में कन्या भोज कराते हैं, उनके पैर छूते हैं,? दान देते हैं, यह हिन्दुओं का धर्म है और परम्परा है। और यह हिन्दुत्व के तथाकथित ठेकेदार कन्याओं पर लाठी बरसा रहे हैं।



UP LATEST NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!