योगी से मिले अखाड़ा परिषद अध्यक्ष, फर्जी बाबाओं के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांग

  • योगी से मिले अखाड़ा परिषद अध्यक्ष, फर्जी बाबाओं के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांग
You Are Here
योगी से मिले अखाड़ा परिषद अध्यक्ष, फर्जी बाबाओं के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांगयोगी से मिले अखाड़ा परिषद अध्यक्ष, फर्जी बाबाओं के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांगयोगी से मिले अखाड़ा परिषद अध्यक्ष, फर्जी बाबाओं के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांग

लखनऊः चौदह बाबाओं को फर्जी घोषित करने के बाद अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इनके खिलाफ कार्रवाई, इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने और 2019 के अर्द्धकुम्भ मेले में मुकम्मल व्यवस्था करने की मांग की।  परिषद के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरि के नेतृत्व में साधु-सन्तों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने योगी से यहां मुलाकात कर अर्द्धकुम्भ मेले में अच्छी व्यवस्था किए जाने की मांग के साथ ही कुछ सुझाव भी उन्हें दिए।

मुख्यमंत्री से मिलने के बाद गिरि ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया है कि मेले की व्यवस्था ऐतिहासिक होगी। अखाड़ा परिषद से जुड़े साधु-सन्तों को मेले में अस्थायी निर्माण में सहयोग किया जायेगा। उन्होंने बताया कि परिषद की मांग को गम्भीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किये जाने पर विचार करने का आश्वासन दिया है। गत 10 सितम्बर को घोषित 14 फर्जी बाबाओं की सूची योगी को सौंपकर कार्रवाई की मांग की गई।

परिषद के अध्यक्ष ने दावा किया कि मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया है कि घोषित किए गए 14 फर्जी बाबाओं में से उत्तर प्रदेश में रहने वाले साधुओं की जांच की जाएगी, यदि कोई कानून का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गिरि ने कहा कि अखाड़ा परिषद में सभी 13 अखाड़े आते हैं। इन्हीं अखाड़ों से जुड़े साधु-सन्तों को अर्द्धकुम्भ में महत्ता दी जाती रही है। उनका कहना था कि जिन साधु-सन्तों की वजह से सनातन धर्म की प्रतिष्ठा गिरती है, उन्हें बाबा के तौर पर अर्द्धकुम्भ में आने से रोका जाना चाहिए। गृहस्थ के रुप में कोई भी आ सकता है।  


 



UP HINDI NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!