Subscribe Now!

मरीज की मौत के बाद परिजनों ने काटा हंगामा, डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोप

You Are Here
मरीज की मौत के बाद परिजनों ने काटा हंगामा, डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोपमरीज की मौत के बाद परिजनों ने काटा हंगामा, डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोपमरीज की मौत के बाद परिजनों ने काटा हंगामा, डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोप

आजमगढ़ः जिला चिकित्सालय में विवादों से पुराना नाता हैं। आए दिन मरीजों और उनके तीमादारों से डॉक्टरों और अस्पताल कर्मीयों में झड़प होती रहती है। लेकिन अस्पताल की व्यवस्था सुधरने के बजाय और दिनों-दिन बिगड़ती जा रही है। ताजा मामला आजमगढ़ का है। जहां जिला चिकित्सालय में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद परिजनों ने डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया। जिसके बाद उन्होंने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया।

जानिए पूरा मामला 
जानकारी के मपताबिक मामला बिलरियागंज थाना क्षेत्र का है। जहां जगमलपुर गांव के रहने वाले पतिराज को बुद्ववार को परिजनों ने जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। परिजनों का आरोप है कि जिला चिकित्सालय में भर्ती होने के बाद डाक्टर उनके मरीज का सही इलाज नहीं कर रहे थे। जिसके कारण उनके परिजन की इलाज के अभाव में मौत हो गई। 
PunjabKesari
डॉक्टरों पर लगाया आरोप
मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में हंगामा करना शुरू कर दिया। वहीं मौके पर प्रमुख चिकित्साधीक्षक भी पहुंचे। जहां परिजन चीख-चीख कर डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे।  परिजनों का आरोप है कि डाक्टर अपने चैम्बर मे ही रह रहे हैं 7 बजे का इंजेक्शन 10 बजे दिया जा रहा है। कोई डाक्टर भर्ती मरिजों को चेक करने के लिए नही आ रहे है।
PunjabKesari

अस्पताल में भर्ती होने से काई अमर नहीं हो जाता- चिकित्साधीक्षक
वहीं प्रमुख चिकित्साधीक्षक डॉ. जीएल केशरवानी ने कहा कि डाक्टरों ने किसी प्रकार की कोई लापरवाही नही बरती है। मरीज का पहले से विभिन्न चिकित्सालयों में इलाज चल रहा था। एक दिन पूर्व रात में उसे जिला चिकित्सलय में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान मौत हो गई। उन्होने कहा कि अस्पताल में भर्ती होने से कोई अमर नहीं हो जाता। 


 



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन