शादी करने के बाद दूल्हे ने दुल्हन को साथ ले जाने से किया इंकार, पढ़िए पूरा मामला

You Are Here
शादी करने के बाद दूल्हे ने दुल्हन को साथ ले जाने से किया इंकार, पढ़िए पूरा मामलाशादी करने के बाद दूल्हे ने दुल्हन को साथ ले जाने से किया इंकार, पढ़िए पूरा मामलाशादी करने के बाद दूल्हे ने दुल्हन को साथ ले जाने से किया इंकार, पढ़िए पूरा मामला

गाजीपुर(अनिल कुमार): उत्तर प्रदेश में गाजीपुर जिले के तारनपुर गांव में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां पर एक दूल्हे ने सिंदूरदान करने के बाद दुल्हन को साथ ले जान से इंकार कर दिया। दूल्हे के एसा करने पर लड़की के परिजनों ने सभी बारातियों को बंधक बना लिया। इसके बाद कई घंटे तक पंचायत चली और अंत में दूल्हे ने अपनी गलती स्वीकारी और दुल्हन को साथ ले जाने के लिए तैयार हो गया।

जानकारी के अनुसार जनपद गाजीपुर के तारनपुर गांव मे मरदह गांव से बीती रात एक बारात आई थी। जिसमें दूल्हा जयप्रकाश अपने साथियों और बारातियों के साथ शादी की सारी रस्में निभाई। इतना ही नहीं शादी के 7 वचन निभाने का वचन भी लिया और फिर सात फेरे लेने के बाद सिन्दूरदान भी किया। लेकिन जब वह कोहबर मे पहुंचा तो उसे ना जाने क्या सुझा और उसने दुल्हन को अपने साथ ले जान से इंकार कर दिया। उस वक्त रात के 3 बज रहे थे।

जब इस बात का परिजन और फिर गांववालों को पता चला तो उन्होंने दूल्हा और बारातियों को बंधक बना लिया। सुबह पंचायत आरम्भ हुई। पंचायत के बाद भी दूल्हा किसी भी हाल मे दुल्हन को साथ ले जाने को तैयार नहीं था। इसके बाद यह बात फिर पुलिस के पास पहुंची। पुलिस भी पूरे लाव लश्कर के साथ पहुंची और अपना पुलिसीया रूप जब दिखाया। बस फिर क्या था पहले का इंकार अचानक से इकरार मे बदल गया और दूल्हा समाज और ईज्जत की दुहाई देते हुए दुल्हन को अपने साथ ले जाने को तैयार हो गया।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!