9 PM देने वाले यूपी से अब रामनाथ कोविंद का पहला राष्ट्रपति बनना तय

  • 9 PM देने वाले यूपी से अब रामनाथ कोविंद का पहला राष्ट्रपति बनना तय
You Are Here
9 PM देने वाले यूपी से अब रामनाथ कोविंद का पहला राष्ट्रपति बनना तय9 PM देने वाले यूपी से अब रामनाथ कोविंद का पहला राष्ट्रपति बनना तय9 PM देने वाले यूपी से अब रामनाथ कोविंद का पहला राष्ट्रपति बनना तय

लखनऊ: बीजेपी द्वारा रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद विपक्ष के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं। यह दावा किया जा रहा है कि कि कोविंद का राष्ट्रपति बनना लगभग तय है। देश के सबसे बड़े राज्य यूपी ने देश को अब तक 9 प्रधानमंत्री दिए हैं। यह संभवतः पहला मौका होगा, जब इस राज्य से रामनाथ कोविंद के रूप में देश को पहला राष्ट्रपति मिलेगा।

जानकारी के अनुसार कानपुर के कल्याणपुर स्थित महर्षि दयानन्द विहार कालोनी में जश्न का माहौल है। शहर के मानचित्र पर कोई खास पहचान ना रखने वाले इस इलाके के निवासी अपने पड़ोसी रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद खुशियां मना रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली में राजग की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर कोविंद का नाम घोषित किए जाने के साथ ही दयानन्द विहार कालोनी के निवासियों में खुशी की लहर दौड़ गई। कोविंद का एक घर इसी कालोनी में है। बड़ी संख्या में लोग अपने पड़ोसी को देश के सर्वाेच्च संवैधानिक पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद सड़कों पर ढोल-नगाड़े बजाने उतर पड़े और उन्होंने जमकर पटाखे भी जलाए।

वर्ष 1996 से 2008 तक कोविंद के जनसम्पर्क अधिकारी रहे अशोक त्रिवेदी ने बताया कि बेहद सामान्य पृष्ठभूमि वाले कोविंद अपनी कड़ी मेहनत और समर्पण के बल पर इस बुलंदी तक पहुंचे हैं। कोविंद की पसंदगी के बारे में त्रिवेदी ने बताया कि वह अन्तर्मुखी स्वभाव के हैं और सादा जीवन जीने में विश्वास करते हैं। उन्हें सादा भोजन पसंद है और मिठाई से परहेज करते हैं। वह लगातार उनके सम्पर्क में हैं और वर्ष 2012 में उनकी पत्नी के निधन पर वह उनके घर आए थे।

कोविंद के पड़ोसी देवेन्द्र जुनेजा ने उन्हें राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाए जाने पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि यह मेरे लिए और उन सभी के लिए खास दिन है, जो कोविंद जी को निजी तौर पर जानते हैं। वह जमीन से जुड़े व्यक्ति हैं और अपने आसपास रहने वाले लोगों की हमेशा फिक्र करते हैं। कानपुर देहात स्थित कोविंद के पैतृक गांव परौख में दीवाली जैसा माहौल है। कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद गांव के लोगों ने एक-दूसरे को मिठाई बांटकर तथा पटाखे दगाकर खुशियां मनाईं।



UP LATEST NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You