पांच साल में 70 लाख को रोजगार देगी योगी सरकार

  • पांच साल में 70 लाख को रोजगार देगी योगी सरकार
You Are Here
पांच साल में 70 लाख को रोजगार देगी योगी सरकारपांच साल में 70 लाख को रोजगार देगी योगी सरकारपांच साल में 70 लाख को रोजगार देगी योगी सरकार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार अगले पांच सालों में 70 लाख युवाओं को रोजगार मुहैया करायेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां तीसरे विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि आगामी पांच वर्षों में प्रदेश सरकार का 70 लाख व्यक्तियों को रोजगार देने का लक्ष्य है, जिसमें से 10 लाख लोगों को रोजगार व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के माध्यम से दिया जाना है। इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कृषि, डेयरी, लघु उद्योग, औद्योगिक विकास आदि सभी विभागों को बेहतर समन्वय के साथ प्रयास करने की आवश्यकता है। 

उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में रेडीमेड गॉरमेन्ट, मोबाइल रिपेयरिंग, फूड प्रोसेसिंग आदि में रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं। इन क्षेत्रों में कौशल विकास के प्रयास होने चाहिए। नौजवानों को कौशल विकास से होने वाले लाभ के प्रति जागरूक किए जाने की भी आवश्यकता है। 

योगी ने कहा कि वर्ष 2014 में केन्द्र में नरेन्द्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना लागू करने के साथ ही, पहली बार अलग से कौशल विकास मंत्रालय का गठन किया गया, जो सभी विभागों के साथ मिलकर काम कर रहा है। पूर्व में भी डिग्री, डिप्लोमा, प्रमाणपत्र देने के अनेक संस्थान एवं कार्यक्रम रहे हैं, लेकिन ऐसा कोई भी कार्यक्रम नहीं था, जो परंपरागत व्यवसाय करने वाले लोगों का कौशल विकास कर सके। 

मुख्यमंत्री ने व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग की 101 विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। कौशल विकास प्रदर्शनी का उद्घाटन तथा सेवायोजित प्रशिक्षणार्थियों को नियुक्ति पत्र भी वितरित किए। लोकार्पित परियोजनाओं में छह नये राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के नवीन भवन, दस संस्थानों में स्थापित सौर ऊर्जा संयंत्र, 25 संस्थानों में आई0टी0 लैब, 35 संस्थानों में स्मार्ट क्लास, 04 संस्थानों का जीर्णोद्धार तथा 17 संस्थानों में नवनिर्मित कार्यशाला एवं थ्योरी कक्षाएं शामिल हैं। शिलान्यास की गई परियोजनाओं में 03 संस्थानों में ऊर्जा संयंत्र की स्थापना एवं राजकीय शिल्पकार अनुदेशक प्रशिक्षण संस्थान, सुल्तानपुर सम्मिलित हैं। मुख्यमंत्री ने कौशल विकास प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

उन्होंने कहा कि दुनिया में प्रगति के रास्ते हमेशा खुले होते हैं धरती पर कोई भी अयोग्य नहीं, केवल ऐसे योजक की आवश्यकता है, जो उसे दिशा दे सके। राज्य सरकार के व्यावसायिक शिक्षा एवं प्राविधिक शिक्षा विभाग देश के सबसे ज्यादा युवा आबादी वाले प्रदेश के नौजवानों को कौशल विकास के माध्यम से दिशा देने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। युवाओं को कुशल बनाकर उनके जीवन को दिशा देना गौरव की बात है। कौशल में पारंगत व्यक्ति के लिए देश और दुनिया में प्रगति के रास्ते हमेशा खुले होते हैं। ऐसा व्यक्ति कहीं भी रहकर अपनी आजीविका प्राप्त कर सकता है। 



UP LATEST NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !