बाढ़ पीड़ितों के मदद में कोताही बर्दाश्त नहीं: योगी

  • बाढ़ पीड़ितों के मदद में कोताही बर्दाश्त नहीं: योगी
You Are Here
बाढ़ पीड़ितों के मदद में कोताही बर्दाश्त नहीं: योगीबाढ़ पीड़ितों के मदद में कोताही बर्दाश्त नहीं: योगीबाढ़ पीड़ितों के मदद में कोताही बर्दाश्त नहीं: योगी

महराजगंज: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि बाढ़ पीड़ितों की मदद में अधिकारी रात दिन एक कर दें। इस कार्य में उदासीनता किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी। महराजगंज के फरेंदा, निचलौल और सदर तहसील क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित करने के बाद मुख्यमंत्री अफसरों से कहा कि पीड़ितों को हरसंभव मदद करने के लिये तैयार रहें इसमें उदासीनता कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

बृजमनगंज क्षेत्र के शाहाबाद, निचलौल क्षेत्र के बहुआर और सदर के पनियरा में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने मृतक व बाढ़ में घर से बेघर हुए परिवार के लोगो को सहायता राशि प्रदान करते हुए अफसरों को पीड़ितों के हरसंभव मदद करने की हिदायत दी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 40 वर्षो के बाद ऐसी भयावह आपदा आयी है। प्रशासन को सतर्क किया जा रहा है कि राहत सामग्री पहुंचाने में देरी हुई अफसरो पर कार्रवाई होगी। पीड़ितों की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ, पीएसी जगह-जगह पर तैनात किये गये हैं। जिला प्रशासन भी युद्ध स्तर पर बचाव कार्य में लगा हुआ है। बाढ़ के विषय के पहले से जिला प्रशासन को सतर्क किया गया था। 

योगी ने कहा कि राजमार्ग पर भी पानी आ जाने के कारण बचाव कार्य में कुछ देरी हुई लेकिन प्रदेश सरकार पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव तैयार है। पर्याप्त धनराशि भेज दी गई है। राहत कार्य में दिक्कत नहीं आने पायेगी। अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि प्रत्येक पीड़ित परिवार तक राहत सामग्री पहुंच जानी चाहिए। पीड़ितों के मदद में लापारवाही कत्तई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

योगी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए क्लोरिन की गोली और दवाईयां प्रत्येक परिवार को उपलध होनी चाहिए। जिनके मकान क्षतिग्रस्त हो गये व पशु हानि हुई है उनको तत्काल सहायता राशि उपलब्ध होनी है। गांव में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन करके लोगो की सुरक्षा करे। उन्होंने कहा कि किसानों के फसल नष्ट होने पर सभी किसानो का सर्वे करा कर उनको सहायता दिया जायेगा। सांसद व विधायक को हिदायत दिया कि जिले के अधिकारियों के साथ मिल कर पीड़ित लोगों की मदद में आगे आये। पीड़ितों की मदद करना सबसे बड़ा पुण्य का काम है। लोगों के सहयोग के लिए केंद्र व प्रदेश की सरकार तैयार है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि राहत सामग्री प्रति परिवार को उपलब्ध हो जाय। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!