CM योगी का अधिकारियों को सख्त निर्देश, 2 अक्टूबर 2018 तक हर घर में बने शौचालय

  • CM योगी का अधिकारियों को सख्त निर्देश, 2 अक्टूबर 2018 तक हर घर में बने शौचालय
You Are Here
CM योगी का अधिकारियों को सख्त निर्देश, 2 अक्टूबर 2018 तक हर घर में बने शौचालयCM योगी का अधिकारियों को सख्त निर्देश, 2 अक्टूबर 2018 तक हर घर में बने शौचालयCM योगी का अधिकारियों को सख्त निर्देश, 2 अक्टूबर 2018 तक हर घर में बने शौचालय

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो अक्टूबर 2018 तक सभी ग्रामीण घरों में शौचालय की सुविधा के निर्देश दिए हैं।  मुख्यमंत्री ने कल देर रात यहां पंचायती राज विभाग के प्रस्तुतिकरण के समय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि गंगा एवं इसकी सहायक नदियों के निकटस्थ ग्रामों को खुले में शौच मुक्त कराए जाने के लिए नमामि गंगे परियोजना से धन प्राप्त करने के लिए एक विस्तृत कार्य योजना केन्द्र सरकार को तत्काल भेजी जाए।

आगामी गंगा दशहरा के निकट किसी भी दिवस को गंगा दशहरा के अवसर पर गंगा के निकट सभी विकास खण्डों के प्रधानों, ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों का वृहद सम्मेलन आयोजित कराया जाए। उन्होंने ग्रामीण महिलाओं के लिए सामुदायिक शौचालयों के निर्माण के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने पंचायतों के सशक्तीकरण के लिए प्रत्येक चार पंचायत पर एक चन्द्रशेखर आजाद ग्रामीण विकास सचिवालय की स्थापना कराए जाने के लिए व्यापक कार्य योजना बनाए जाने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी 32,700 ग्राम पंचायत कार्यालय भवनों का आधुनिकीकरण कराकर उनमें इन्टरनेट, टी0वी0 आदि आधुनिक संयंत्र उपलब्ध कराये जाने के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाए जाने के भी निर्देश दिए। पंचायती राज विभाग के प्रस्तुतिकरण के समय योगी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 79 पंचायत भवनों के सापेक्ष 74 पंचायत भवनों का निर्माण कराए जाने के फलस्वरूप अवशेष 05 पंचायत भवनों का निर्माण आगामी 31 मई, तक निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण किया जाए। 

उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) तहत शौचालय निर्माण योजना में प्रदेश के चार जिलों, 40 विकास खण्डों एवं 08 हजार ग्रामों को आगामी 100 दिन में ओ0डी0एफ0 कराने के निर्देश दिए। योगी ने गंगा एक्शन प्लान के तहत चयनित 25 जिलों की चिन्हित 1547 ग्रामों को आगामी 100 दिन में खुले में शौचमुक्त कराए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने 75 जिलों में पंचायत उद्योग कार्यशालाओं का निर्माण कराए जाने के साथ-साथ आगामी 100 दिवसों में जिला पंचायतों द्वारा निर्मित 3889.70 किलोमीटर सड़क को गड्ढामुक्त कराए जाने के भी निर्देश दिए। 

योगी ने समस्त जिला पंचायतों में ई-टेण्डरिंग प्रक्रिया को कड़ाई से लागू कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वच्छता के लिए तैनात सफाई कर्मियों द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन न करने पर उनके के विरुद्ध नियमानुसार कड़ी कार्रवाई कराने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश को आगामी 02 अक्टूबर, 2018 तक खुले से शौचमुक्त कराने के लिए वृहद स्तर पर अभियान चलाने एवं आवश्यकतानुसार धनराशि की व्यवस्था समय से सुनिश्चित कराने के लिए मुय सचिव की अध्यक्षता में तत्काल बैठक आयोजित की जाए। 

उन्होंने वर्तमान वित्तीय वर्ष में अवशेष पांच बहुउद्देशीय पंचायत भवन के निर्माण, 71 ग्रामीण क्षेत्रों में अन्त्येष्टि स्थलों के विकास सहित बलिया जिले में 13.26 करोड़ रुपए की लागत एवं कन्नौज जिले में 8.01 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित होने वाले पंचायत प्रशिक्षण केन्द्र के निर्माण कार्य पूर्ण कराने के भी निर्देश दिए। 

योगी ने राष्ट्रीय ग्रामीण स्वराज अभियान योजना के तहत 25 जिलों में जिला पंचायत रिसोर्स सेण्टरों के संचालन की प्रक्रिया को तेज करते हुए 10 जिला पंचायत रिसोर्स सेण्टरों के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।  उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में निर्मित कराये जाने वाले अन्त्येष्टि स्थलों में दो प्लेटफार्म, एक शौचालय एवं स्नानागार, एक हैण्डपप एवं लकडिय़ों के लिए भण्डार गृह निर्मित कराए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर उप मुयमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ0 दिनेश शर्मा सहित मंत्रिमण्डल के अन्य सदस्य तथा वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!