UP विधानसभा हंगामे के बाद स्थगित, राज्यपाल पर फेंके गए कागज के गोले

You Are Here
UP विधानसभा हंगामे के बाद स्थगित,  राज्यपाल पर फेंके गए कागज के गोलेUP विधानसभा हंगामे के बाद स्थगित,  राज्यपाल पर फेंके गए कागज के गोलेUP विधानसभा हंगामे के बाद स्थगित,  राज्यपाल पर फेंके गए कागज के गोले

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा का पहला सत्र आज विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच शुरू हुआ। शोरशराबे के बीच जैसे-तैसे अभिभाषण पढऩे वाले राज्यपाल राम नाईक की आेर विपक्षी सदस्यों ने कागज के गोले उछाले।

राज्यपाल राम नाईक ने विधानमण्डल सत्र के पहले दिन दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन की कार्यवाही शुरू होते ही अभिभाषण पढऩा शुरू किया लेकिन विपक्षी सदस्यों ने जोरदार हंगामा शुरू कर दिया और राज्यपाल की आेर कागज के गोले फेंके। उन्हें नाईक से दूर रखने के लिये सुरक्षाकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

राज्यपाल का पूरा अभिभाषण सुनने की विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अपील का विपक्षी सदस्यों पर कोई असर नहीं दिखा और सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सपा और बसपा समेत समूचे विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। हाथों में सरकार विरोधी नारे लिखे बैनर और तख्तियां लिये विपक्षी सदस्यों ने राज्यपाल की आेर कागज के गोले फेंकना शुरू कर दिया। सुरक्षाकर्मी इन गोलों को फाइल के सहारे रोकते देखे गये। हालांकि उछाले गये कुछ कागज नाईक तक पहुंच भी गये। सदन की कार्यवाही का पहली बार टेलीविजन पर सीधा प्रसारण किया गया। 

शोर शराबे और हंगामे के बीच राज्यपाल ने लगभग पूरा अभिभाषण पढ़ा। नाईक बीच-बीच में विपक्षी सदस्यों के रवैये को सवालिया नजरों से देखते और इशारों में आपत्ति जताते रहे। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘‘सारा उत्तर प्रदेश देख रहा है, आप क्या कर रहे हो।’’

सदन स्थगित 
हंगामे के चलते दोनों सदनों (विधानसभा और विधान परिषद) को कल 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। कल राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होगी। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!