नोटबंदी से किसान-मजदूर हो रहे बर्बाद, चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था: अखिलेश

  • नोटबंदी से किसान-मजदूर हो रहे बर्बाद, चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था: अखिलेश
You Are Here
नोटबंदी से किसान-मजदूर हो रहे बर्बाद, चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था: अखिलेशनोटबंदी से किसान-मजदूर हो रहे बर्बाद, चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था: अखिलेशनोटबंदी से किसान-मजदूर हो रहे बर्बाद, चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ‘नोटबन्दी’ को किसानों के लिए बड़ा संकट बताते हुए कोआपरेटिव बैंक को भी एक हजार और पांच सौ नोट लेने की अनुमति दिये जाने की मांग की है। अखिलेश यादव ने आज यहां मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि नोटबन्दी के फैसले से किसान, मजदूर, गरीबों का संकट बढ़ा दिया है। सबसे ज्यादा किसान परेशान है। 

कोआपरेटिव बैंकों को मिले 1000-500 नोट लेने की अनुमति
उन्होंने कहा कि किसानों की समस्याओं को देखते हुए कोआपरेटिव बैंको को 1000 और 500 के नोटों को लेने की अनुमति दी जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे तो सहकारी बैंकों का अस्तित्व ही खतरे में पड़ जाएगा। उन पर भरोसा कौन करेगा। कई सहकारी बैंक बन्द हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसका रास्ता खोजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘सबसे ज्यादा बुद्धिजीवी उन्ही की पार्टी में हैं, वही लोग रास्ता निकालें।’

चौपट हो जाएगी अर्थव्यवस्था
अखिलेश यादव ने दावा किया कि नये नोटों से भ्रष्टाचार शुरु हो गया है। पूरी खबरें नहीं आ रही हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग बता रहे हैं कि स्थिति सामान्य होने में छह महीने से एक साल तक लग सकता है। उन्हें अधिकारियों ने बताया है कि रुपये आने का सही आंकड़ा है ही नहीं। हालात गंभीर हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के फैसले से किसान मजदूर बर्बाद हो रहे हैं। किसान मजदूर के बर्बाद होने पर अर्थव्यवस्था चौपट हो जाएगी। रोजगार पर भी असर पड़ेगा। मजदूरों को प्रतिदिन के हिसाब से दिहाड़ी मिलती है। पैसा नहीं मिलेगा तो वह खायेगा क्या। कारोबार पैसे से ही होगा, जब पैसे नहीं होंगे तो कारोबार बन्द हो जायेंगे।

अमित शाह पर किया कटाक्ष 
अमित शाह समेत भाजपा के अन्य नेताओं के प्रदेश दौरे पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, ‘वे अपने दौरे में बड़ी बड़ी बात तो कर रहे हैं, लेकिन यह नहीं बता पाते कि ढ़ाई वर्षो में प्रदेश के विकास के लिए भाजपा ने क्या किया।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादियों द्वारा विकसित की गयी योजनाओं का लाभ भाजपा नेता भी उठा रहे हैं। उनका कहना था कि सैफई में जिस हवाई पट्टी का उपयोग किया, उसे समाजवादियों ने ही बनवाया था। आजमगढ़ में जहां अमित शाह सभा कर रहे थे उसके आस पास का विकास नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने ही करवाया। 

भाजपा के पास विकास का कोई ऐजेण्डा नहीं
उन्होंने कटाक्ष किया कि अमित शाह ने यह नहीं बताया कि आजमगढ़ के लिए उनके मन में क्या योजना है। समाजवादी सरकार वहां 24 घन्टे बिजली दे रही है और दिन में 24 घन्टे ही होते है। 26 घन्टे तो हो नहीं सकते। भाजपा के पास विकास का कोई ऐजेण्डा नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा की परिवर्तन यात्राओं में भीड़ ही नहीं जुट रही है लेकिन सपा को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। 

सपा की वापसी पर बसपा परेशान 
बहुजन समाज पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार को पत्थरों वाली सरकार बताते हुए उन्होंने कटाक्ष किया कि सपा की वापसी की संभावना से सबसे अधिक वही परेशान हैं। 

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You