Subscribe Now!

पैतृक गांव पहुंचा शहीद जगपाल सिंह का पार्थिव शरीर, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

You Are Here
पैतृक गांव पहुंचा शहीद जगपाल सिंह का पार्थिव शरीर, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाईपैतृक गांव पहुंचा शहीद जगपाल सिंह का पार्थिव शरीर, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाईपैतृक गांव पहुंचा शहीद जगपाल सिंह का पार्थिव शरीर, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

बुलंदशहर(इकबाल सैफी): जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में शहीद हुए जगपाल का पार्थिव शरीर रविवार को उनके पैतृक गांव सलेमपुर के भैंसरोली पहुंच गया। शहीद को हजारों लोगों ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी। आपको बता दें कि आने वाली 4 फरवरी को शहीद की बेटी की शादी होनी थी और पाक अगर 18 जनवरी को नापाक हरकत ना करता तो शहीद जगपाल अपनी बेटी की शादी में शामिल होने के लिए 19 जनवरी को छुट्टी आने वाला था।
PunjabKesari
जानकारी के अनुसार शहीद जगपाल का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके पैतृक गांव भैंसरोली पहुंचा तो वहां लोगों  में हाहाकार मच गया। परिवहन मंत्री स्वतन्त्र देव व कई विधायकों के साथ-साथ हजारों लोग शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंचे। वहीं शहीद के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल था। मगर इस बीच एक ही नारे की गूंज सुनाई दे रही थी कि हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद। बताया जा रहा है कि अपनी कायराना हरकतों से बाज ना आने वाले पाक ने एक और नापाक हरकत की जिसमें बुलन्दशहर का एक और लाल शहीद हो गया।
PunjabKesari
शहीद के शव को बुलन्दशहर लाया गया और सलामी के साथ अंतिम विदाई दी गई। शहीद की अंतिम विदाई तमाम दलों के नेताओं सहित जिलेभर के लोग नम आंखों से आए और यहां आने वाले लोगों ने जगपाल तुम अमर रहो जैसे नारों के साथ शहीद को श्रद्धांजलि दी। वहीं सीएम योगी के आदेश पर परिवहन मंत्री स्वतन्त्र देव सिंह शहीद की अंतिम विदाई में शामिल हुए, जबकि स्वतन्त्र ने आर्थिक मदद के लिए 20 लाख रुपए का चेक शहीद के परिवार को दिया।



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन