रेप-हत्या मामलाः काेर्ट ने दाेषियाें काे सुनाई फांसी की सजा

  • रेप-हत्या मामलाः काेर्ट ने दाेषियाें काे सुनाई फांसी की सजा
You Are Here
रेप-हत्या मामलाः काेर्ट ने दाेषियाें काे सुनाई फांसी की सजारेप-हत्या मामलाः काेर्ट ने दाेषियाें काे सुनाई फांसी की सजारेप-हत्या मामलाः काेर्ट ने दाेषियाें काे सुनाई फांसी की सजा

कन्नौज(नित्या मिश्रा)-उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में बीते 3 साल पूर्व 8 साल की मासूम लड़की की बलात्कार के बाद निर्मम हत्या के मामले में एडीजे फर्स्ट कोर्ट न्यायाधीश चंद्र भूषण ने दो दाेषियाें को फांसी की सजा सुनाई है। तीसरा दाेषी नाबालिक होने पर काेर्ट ने मामले काे जुबेनाइल कोर्ट भेज दिया है।

मामला 25 जुलाई 2014 का है। छिबरामऊ कोतवाली के मोहन नगला गांव में 8 साल की बच्ची मोनिका घर के बाहर खेल रही थी। 12 बजे करीब मोनिका रहस्यमय ढंग से गायब हो गयी। मोनिका के पिता नीलू ने बच्ची गायब होने की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मामले को अज्ञात में लिखकर जांच शुरू की तो पुलिस की तफ्तीश में आरोपी सुधीर जो नाबालिक है जीतू व सतीश के नाम सामने आए। पुलिस ने तीनों आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो मोनिका की हत्या का सच सामने आ गया। 

तीनों आरोपियों की निशान देही पर मोनिका का शव एक बोरे में तालाब किनारे बरामद किया गया। जिसके बाद मोनिका के पिता नीलू ने कोर्ट में जमकर पैरवी की। मृतक मोनिका का परिवार कोर्ट के फैसले से खुश है। वहीं सरकारी वकील छेदी लाल ने बताया कि घटना काफी जघन्य थी कोर्ट ने भी मामले को गंभीरता लेते हुई जल्द फैसला सुनाया। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!